आर्टिटेक्चर के प्रति जागरुकता लाने के लिए आयोजित हुई प्रदर्शनी

0
19

ओम दयाल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट उलुबेड़िया के कॉलेज ऑफ आर्टिटेक्चर का आयोजन

हावड़ा । ओम दयाल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट उलुबेड़िया के कॉलेज ऑफ आर्टिटेक्चर द्वारा विद्यार्थियों की गतिलिधियों को लेकर प्रदर्शनी आयोजित की गयी। गत 22 एवं 23 जुलाई को आयोजित इस प्रदर्शनी में प्रथम वर्ष से लेकर स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर को विद्यार्थियों का काम दर्शाया गया। हर साल ओडीसीए के विद्यार्थी अपना स्टडी प्रोजेक्ट प्रदर्शित करते हैं। गत 2016 से कोलकाता के आस -पास की ऐतिहासिक इमारतों के दस्तावेज संग्रहित करते आ रहे हैं और हर साल चित्रांकन, स्केच और मापने के लिए इमारतों का नया सेट तैयार करते हैं।
इस बार बांसबेड़िया राजबाड़ी, हंसेश्वरी मंदिर, बांसबेड़िया अनतंबासुदेव मंदिर, हुगली के चंदननगर की मंडल बाड़ी और श्रीरामपुर राजबाटी, शोभाबाजार बसु बाटी, हावड़ा की मुखर्जी बाड़ी. कोलकाता की बर्न एंड शेपर्ड बिल्डिंग को प्रोजेक्ट में शामिल किया गया जहाँ विद्यार्थियों ने आगंतुकों को अपने काम के बारे में समझाया। प्रदर्शनी में शिक्षाविद्, आर्टिटेक्ट, स्कूली विद्यार्थी और आर्टिटेक्चर के विद्यार्थी पहुँचे।
गत 23 जुलाई को शहरी प्रशासनिक व्यवस्था, शहरी अर्थशास्त्र पर एक सेमिनार आयोजित किया गया। प्रदर्शनी का उद्घाटन ओम दयाल ग्रुप के बोर्ड ट्रस्टी आलोक टिबड़ेवाल एवं सागर अग्रवाल ने किया। सेमिनार में आईआईटी खड़गपुर के आर्टिटेक्चर एवं प्लानिंग विभाग के सेवानिवृत्त प्रोफेसर विप्लव कांति सेनगुप्ता, कलकत्ता विश्वविद्यालय के इकोनॉमिक्स विभाग के नगरीय अर्थशास्त्री प्रोफेसर महालया चटर्जी, आर्टिटेक्ट डॉ. सौम्येन्दु विश्वास, डेललपमेंट प्रोफेशनल रंजिनी सेन ने विचार रखे। इस अवसर पर क्विज एवं मॉ़डल मेकिंग प्रतियोगिता आयोजित की गयी। इसमें साउथ प्वाइंट, रूबी पार्क पब्लिक स्कूल, एपीजे स्कूल, बिड़ला भारती, डीपीएस रूबी पार्क ने भाग लिया। साउथ प्वाइंट के द्विपायन नन्दी और प्रत्यय गांगुली विजेता रहे। रूबी पार्क पब्लिक स्कूल के अनीश बनर्जी और रणविजय राय रनर अप रहे। कार्यक्रम का उद्देश्य स्कूली विद्यार्थियों में आर्टिटेक्चर के प्रति जागरुकता लाना था। इसे लेकर एक पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन भी किया गया।

Previous articleजीएसटी के 5 वर्षों का एमसीसीआई ने किया आकलन
Next articleरूबी पार्क पब्लिक स्कूल में अर्न्तविद्यालय हिन्दी उत्सव ‘कौशल’ की छटा
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 4 =