उत्तराखंड में फिर आरम्भ हुई चारधाम यात्रा

0
109

कोलकाता: उत्तराखंड में शनिवार 18 सितंबर से चारधाम यात्रा शुरू होग रही है। नैनीताल उच्च न्यायालय के ताजा आदेश को देखते हुए यात्रा का आयोजन कोविड नियमानुसार किया जाएगा। गुरुवार को ही हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को कुछ पाबंदियों के साथ हटा लिया है।
कोर्ट के आदेश के मुताबिक केदारनाथ धाम में रोजाना 800, बद्रीनाथ धाम में 1000, गंगोत्री में 600 और यमनोत्री धाम में 400 श्रद्धालुओं की संख्या पर रोक है। कोर्ट ने चमोली, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी जिलों में चारधाम यात्रा के दौरान जरूरत के मुताबिक पुलिस बल तैनात करने को कहा है। इसके साथ ही श्रद्धालुओं को यात्रा के दौरान किसी भी कुंड में स्नान नहीं करने दिया जाएगा। चारधाम की यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों के लिए यह भी अनिवार्य होगा कि वे 72 घंटे पहले तक कोविड परीक्षण या दोहरी वैक्सीन के प्रमाण पत्र की नकारात्मक रिपोर्ट दिखाएं। इसके साथ ही देवस्थानम बोर्ड में पंचकरण करवाना भी अनिवार्य होगा। राज्य के मुख्य सचिव डॉ एसएस संधू ने सभी संबंधित विभागों को यात्रा की तैयारियां पूरी करने के निर्देश दिए हैं. मुख्य सचिव के अनुसार, चारधाम राज्य में लाखों लोगों के रोजगार और आजीविका का स्रोत है। चारधाम आने वाले सभी श्रद्धालुओं के लिए मास्क पहनना, शारीरिक दूरी के मानक का पालन करना और सैनिटाइजेशन कराना सुनिश्चित किया जाए।
दिलीप जावलकर, सचिव पर्यटन उत्तराखंड ने कहा कि माननीय उच्च न्यायालय ने स्थानीय लोगों की आजीविका, कोविड महामारी के बेहतर प्रबंधन, स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार, एसओपी का कड़ाई से पालन आदि को ध्यान में रखते हुए चारधाम यात्रा पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया है। यात्रा से उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिले के हजारों यात्रा व्यवसायियों और तीर्थ पुजारियों सहित वासियों की रोजी-रोटी पटरी पर आ सकेगी।

उत्तराखंड भा रहा है बंगाल के सैलानियों को

कोलकाता : उत्तराखंड बंगाल के पर्यटकों के लिए प्रिय पर्यटन स्थल बनता जा रहा है। उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों की संख्या के मामले में बंगाल शीर्ष 5 राज्यों में शामिल है। सर्दियों में सैलानियों की तादाद बढ़ने की उम्मीद है, अतएव उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) ने तैयारी शुरू कर दी है। धार्मिक पर्यटन के साथ शीतकालीन तथा साहसिक खेलों के प्रोत्साहन के लिए यूटीडीबी ने जिला प्रशासन के साथ नैनीताल, भीमताल, पंगोट, मसूरी समेत विंटर कार्निवल आयोजित करना आरम्भ किया है। उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद के अपर निदेशक विवेक सिंह चौहान ने कहा कि उत्तराखंड आने वालों में 10 फीसदी पर्यटक कोलकाता के ही हैं। उत्तराखंड ने इस वर्ष टीटीएफ पर्यटन मेले में भाग भी लिया था। उत्तराखंड सरकार ने होम स्टे योजना पर काम करना आरम्भ किया है।

 

Previous articleरूबी पार्क पब्लिक स्कूल ने आयोजित किया ‘कौशल’
Next articleहिन्दी दिवस पर कहानी संग्रह ‘रिश्ते’ का लोकार्पण
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 3 =