करें आभूषणों की शुद्धता की पड़ताल

0
130

आभूषणों की गलत बिक्री न हो इसलिए सरकार ने 16 जून से सभी ज्वैलर्स को हॉलमार्क वाली ज्वैलरी बेचने को कहा है। कई बार, जौहरी यह कहते हुए आभूषण बेचते हैं कि यह 22 कैरेट का है, लेकिन वास्तविकता में यह कम शुद्धता का हो सकता है। लेकिन, अगर कोई जौहरी चाहे तो हॉलमार्किंग की फर्जी जानकारी भी दे सकता है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि गहनों पर हॉलमार्किंग वास्तविक है, कुछ चीजें हैं जिन्हें आप देख सकते हैं।
हॉलमार्क शुद्धता का प्रमाण है। जौहरी हॉलमार्किंग केंद्रों (एएचसी) से हॉलमार्क का प्रमाणपत्र ले सकता है। भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) इन केंद्रों को मान्यता देता है। जौहरी को अपना माल हॉलमार्क करवाने के लिए बीआईएस से लाइसेंस भी लेना होगा। हॉलमार्क वाले गहनों का एक टुकड़ा आपको सोने की शुद्धता बताता है, चाहे वह 18 कैरेट का हो, 20 कैरेट का या 22 कैरेट का। आभूषण खरीदते समय, आपको हॉलमार्क वाले आभूषणों पर तीन निशान दिखाई देंगे- शुद्धता, परख या हॉलमार्किंग केंद्र का पहचान चिह् और जौहरी का पहचान चिह्/संख्या।
यह सुनिश्चित करने के लिए कि दी गई जानकारी सही है, हमेशा बीआईएस रजिस्टर्ड जौहरी से ही खरीदारी करें। आप जौहरी से बीआईएस लाइसेंस दिखाने के लिए भी कह सकते हैं। अगला काम बिल की जांच करना है। नियमों के अनुसार जौहरी को हॉलमार्किंग शुल्क की जानकारी अलग से देनी होती है। एएचसी ₹35 प्रति पीस का शुल्क लेता है।
नियम के मुताबिक, बिल या चालान में प्रत्येक वस्तु का विवरण, कीमती धातु का शुद्ध वजन, कैरेट में शुद्धता और सुंदरता और हॉलमार्किंग शुल्क अलग-अलग होना चाहिए।
यदि आप अब भी अनिश्चित हैं, तो आप किसी भी बीआईएस-मान्यता प्राप्त एएचसी से अपने आभूषणों की जांच करवा सकते हैं। केंद्र प्रायोरिटी बेसिस पर उपभोक्ताओं के आभूषणों की जांच करते हैं। जांच के बाद एएचसी एक रिपोर्ट जारी करेगा। यदि आभूषण बिल में बताई गई शुद्धता से कम शुद्धता का है, तो एएचसी, जिसने प्रारंभिक प्रमाणीकरण किया था, को उपभोक्ता की फीस वापस करनी होगी। आप रिपोर्ट के साथ अपने जौहरी से भी संपर्क कर सकते हैं, क्योंकि ऐसे मामलों में वह ग्राहकों को क्षतिपूर्ति करने के लिए भी उत्तरदायी है।

Previous article‘मानवीय संकट के प्रश्न और समकालीन हिंदी साहित्य’ विषय पर राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन’
Next articleपूर्वी कोलकाता दलदली क्षेत्र का होगा संरक्षण
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 17 =