कोलकाता के छात्रों ने गुजरात में जीता राष्ट्रीय स्तर का हैकथॉन

0
62

कोलकाता । शिक्षा का डिजिटल प्रारूप बेहद लोकप्रिय हो रहा है और अर्थव्यवस्था को भी इससे बढ़ावा मिला है। एडुटेक कम्पनियाँ भी अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं, साथ ही शिक्षा एवं रोजगार की स्थिति को सुधारने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं मगर प्रमाणन प्रक्रिया में थोड़ी सी गड़बड़ियाँ हैं जिसका फायदा जालसाज उठाते हैं। संस्थानों द्वारा आजकल पीडीएफ प्रमाणपत्र भी दिये जा रहें जिनमें आसानी से हेर -फेर किया जा सकता है। विद्यार्थी का नाम आसानी से बदला जा सकता है। इसलिए, पीडीएफ प्रारूप में उत्पन्न प्रमाण पत्र की वैधता की जांच करने के लिए एक उचित प्रमाणीकरण तंत्र की आवश्यकता है। इस समस्या का समाधान खोजने के लिए, हेरिटेज इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के बी.टेक (सीएसई) के द्वितीय वर्ष के विद्यार्थी अग्निश घोष और बी.टेक- ईसीई द्वितीय वर्ष के राजर्षि पॉल की एक जोड़ी ने एक वेब-आधारित एप्लिकेशन डीकर्ट का आविष्कार किया। यह ब्लॉकचेन, एन्क्रिप्शन और नेटवर्क सुरक्षा के मूल सिद्धांतों पर आधारित है। । नॉन फंजीब्लिटी और टोकनाइजेशन का उपयोग करते हुए, इन विद्यार्थियों ने एक इंटरफ़ेस बनाने में सफलता प्राप्त की है जो पीडीएफ प्रमाणपत्र डेटा को टोकनाइज करता है। टोकनाइजेशन का विचार पीडीएफ प्रमाणपत्र के डेटा को एन्क्रिप्ट करने और इसे एक डिसेन्ट्रलाइज्ड यानी विकेन्द्रित कर उसे ब्लॉकचेन नेटवर्क पर वितरित करने में मदद करता है। हर बार जब कोई उपयोगकर्ता / संगठन प्रमाण पत्र डेटा तक पहुंचना चाहता है, तो वहां से जानकारी प्रस्तुत करने की आवश्यकता होती है नेटवर्क। इस प्रक्रिया में डेटा सुरक्षा की कड़ी प्रक्रिया के तहत कॉपीराइट उल्लंघन, जालसाजी और धोखाधड़ी को रोकने की व्यवस्था की जाती है।
गत29 अप्रैल 2022 को इस एप्लिकेशन ने सरदार वल्लभभाई पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एसवीआईटी), वसाड, गुजरात द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर के हैकथॉन हैक्सविट जीता इस हैकाथन को फेसबुक (मेटा प्लेटफॉर्म) के टेलेंट एक्विजिशन डिविडन मेजर लीग हैकिंग ने भागीदारी करते हुए प्रायोजित किया था। यह इस वर्ष का एकमात्र ऑफलाइन हैकाथन था।
ऑफ़लाइन कार्यक्रम के लिए 980+ चयनित पंजीकरण थे, उनके ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म में 600 से अधिक प्रोजेक्ट प्रस्तुत किए गए थे, और अंत में 115 टीमों ने देश भर के लगभग 500 प्रोग्रामर के साथ फाइनल इवेंट में प्रतिस्पर्धा की।
हैकथॉन की अवधि लगातार 36 घंटे थी। यहां प्रतिभागियों को अपने विचारों को वेबसाइटों, अनुप्रयोगों और सॉफ्टवेयर प्रोटोटाइप में प्रोग्राम और इकट्ठा करना था। आयोजकों ने प्रतिभागियों को सभी संरचनागत सहायता प्रदान की।

मेन्टरिंग यानी परामर्श के 3 चरण थे जहां कंप्यूटर वैज्ञानिक, स्टार्टअप-संस्थापक और अन्य कंपनी टेक लीड ने प्रतिभागियों को उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले उत्पाद और तकनीकी स्टैक के बारे में सलाह दी। उन 3 राउंड के बीच, जजिंग के 2 राउंड थे जहाँ प्रतिभागियों को जजों के सामने अपने उत्पादों के बारे में जानकारी प्रदान करना और प्रदर्शित करना था। इन राउंड में, जज और मेंटर्स प्रौद्योगिकी के स्तर और उत्पाद ज्ञान से काफी प्रभावित हुए थे, जिसके लिए उन्हें राष्ट्रीय कार्यक्रम में विजेता घोषित किया गया था।
अंतिम दौर में, टेक स्टार्ट-अप संस्थापकों और निवेशकों की एक पूरी जूरी थी, जिन्होंने प्रतिभागियों से विभिन्न प्रश्न पूछे, जहां दोनों ने डेटा सुरक्षा के अपने अनूठे विचार के साथ दूसरों को पछाड़कर खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित किया। हैक्सविट के विजेता अग्निश और राजर्षि ने रुपये की पुरस्कार राशि जीती। 50000/- जो उन्होंने एक कल्याणकारी योजना के लिए दान करने का फैसला किया है। हेरिटेज ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के सीईओ पी. के. अग्रवाल ने दोनों विजेताओं को बधाई दी और उम्मीद जतायी कि उनका यह आविष्कार भविष्य में उपयोगी साबित होगा।

Previous article‘राष्ट्रीय आंदोलन और हिंदी साहित्य’ पर संगोष्ठी
Next articleसम्मानित किये गये ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021’ के विजेता
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × five =