कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़े तो रखिए ख्याल 

0
51

आपने अक्सर सुना होगा कि शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ने से कई तह की बीमारियांं भी होने लग जाती हैं। ऐसे में ज्यादातर लोगों को यह तो पता होता है कि यह एक स्वास्थ्य का मसला लेकिन असल में इसके बारे में बहुत कम लोगों को जानकारी होती है। आइए, जानते हैं कि कोलेस्ट्रॉल क्या है और किन फलों को खाने से कोलेस्ट्रॉल का लेवल नियंत्रित किया जा सकता है?

क्या है कोलेस्ट्रॉल ?
कोलेस्ट्रॉल खून में पाया जाने वाला मोम जैसा पदार्थ है। स्वस्थ कोशिकाओं के निर्माण के लिए शरीर को इसकी जरूरत होती है, लेकिन इसकी ज्यादा मात्रा से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। कोलेस्ट्रॉल की उच्च मात्रा से रक्त वाहिकाओं में चर्बीदार पदार्थ जमा हो जाते है। जो कई बार बढ़ते जाते हैं और इस कारण ह्रदय धमनियों से पर्याप्त मात्रा में खून का बहना मुश्किल हो जाता है। कभी-कभी इस जमा पदार्थ के अचानक टूटने से एक थक्का बन जाता है, जिससे हार्ट अटैक या स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।

इन फलों से नियंत्रण में रहता है कोलेस्ट्रॉल लेवल
नाशपाती
रोजाना एक नाशपाती खाने से कोलेस्ट्रोल लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है. नाशपाती में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन, विटामिन, कैल्शियम, आयरन, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल आदि तत्व होते हैं।

स्ट्रॉबेरी
स्ट्रॉबेरी स्वाद में भी काफी अच्छी होती है। आपको आहार में स्ट्रॉबेरी को भी शामिल करना चाहिए। स्ट्रॉबेरी में विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी, फोलेट, मैग्नीशियम और पोटैशियम जैसे पोषक तत्व भरपूर रूप से होते हैं।

सेब
आपने सुना ही होगा कि रोजाना एक सेब खाने से हम स्वस्थ रह सकते हैं। सेब खाने से बुरे कोलेस्ट्रॉल का खतरा बहुत कम हो जाता है। सेब में विटामिन ए, विटामिन सी, पोटेशियम, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट्स मौजूद होते हैं।

अंगूर
अंंगूर से भी बुरे कोलेस्ट्रॉल के लेवल को शरीर से घटाया जा सकता है। इसमें फाइबर, प्रोटीन, आयरन, कॉपर, फोलेट, विटामिन सी, ए, के और बी जैसे पोषक तत्व होते हैं।

पपीता
पपीता खाने से भी कोलेस्ट्रॉल लेवल कंंट्रोल रहता है. पपीते में प्रोटीन, कैल्शियम, फॉस्फोरस जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें आयरन की मात्रा भी पाई जाती है।

नींबू
गर्मियों में नीबू का किसी भी रूप में सेवन बहुत फायदेमंद माना जाता है. नींबू में विटामिन ए, विटामिन बी 6, विटामिन सी, विटामिन इ, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, आयरन जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं।

Previous articleबिहार के आईआईटी जेएएम की परीक्षा में कैदी ने देशभर में हासिल किया 54वां रैंक
Next articleआयोजित हुआ ” प्वाइंटर्स बिजनेस फोरम (पीबीएफ) एक्सपो 2022″
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − four =