क्रिकेट की दुनिया में कमाल दिखा रही हैं स्नेह राणा

0
111

नयी दिल्ली : 5 साल बाद टीम इंडिया में वापसी करने वाली भारतीय महिला क्रिकेटर स्नेह राणा (Sneh Rana) इस समय अपने शानदार खेल की वजह से चर्चा का विषय बनी हुई हैं। स्नेह ने इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच में 8वें नंबर पर उतरकर नाबाद 80 रन की पारी खेल मैच को ड्रॉ कराने में अहम भूमिका निभाई। देहरादून की 27 वर्षीय स्नेह डेब्यू टेस्ट में 50 प्लस स्कोर करने के अलावा और 4 विकेट हासिल करने वाली भारत की पहली जबकि ओवरऑल चौथी महिला खिलाड़ी बन गई हैं।
किसान परिवार से आने वाली स्नेह का जब टीम इंडिया में चयन हुआ था उससे दो महीने पहले उनके पिता भगवान सिंह राणा का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में स्नेह की बड़ी बहन रुचि ने कहा, ‘ पापा के गुजरने के बाद वह बहुत दुखी थी। लेकिन उसने ट्रेनिंग नहीं छोड़ी। दुख के समय में ट्रेनिंग उसके लिए बाम जैसा था।’
स्नेह 5 साल से टीम से बाहर थीं। नौ साल की उम्र में लिटिल मास्टर क्रिकेट अकादमी से शुरुआत करने वाली स्नेह सिनौला में टैलंट सर्च प्रोग्राम टूर्नामेंट के लि चुनी गई थीं। स्नेह को कोचिंग किरण और नरेंद्र साह ने दी। कोच किरण के पति नरेंद्र साह ने बताया, ‘उसे हमारे सामने खेलने में बहुत शर्म आती थी। हमारी अकैडमी कोच किरण ने बैटिंग के लिए उसे बहुत मनाया। वह प्रतिभा की धनी है।’
दूसरी ओर किरण ने स्नेह की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि उसने फादर्स डे से एक दिन पहले शानदार प्रदर्शन कर अपने पिता को श्रद्धांजलि दी है। यह हमारे लिए वास्तव में गर्व करने का क्षण है। स्नेह के लिए यह पिछले कई वर्षों से कड़ी मेहनत का फल है। वह नौ साल की उम्र में मेरे पास कोचिंग के लिए आई थी।’
किरण ने शुरुआती दिनों को याद कर कहा कि कैसे वह ऑलराउंडर बनीं। बकौल किरण, ‘ हमारी अकादमी में लड़कियों को बड़े लड़कों के खिलाफ पेस बोलिंग का सामना करना पड़ता था। इससे उसके क्रिकेट स्किल में निखार आया।’
स्नेह ने मैच की पहली पारी में पहले गेंदबाजी में 4 विकेट चटकाए फिर दूसरी पारी में बल्ले से कमाल दिखाते हुए शानदार अर्धशतक जड़े। स्नेह ने इसके साथ इतिहास रच दिया। वह डेब्यू टेस्ट में 4 विकेट के साथ अर्धशतक जड़ने वाली पहली खिलाड़ी बन गई है। इससे पहले टेस्ट में ये कारनामा न तो पुरष और न ही किसी महिला बल्लेबाज ने किया था।
आठवें नंबर पर बैटिंग के लिए उतरीं स्नेह ने दूसरी पारी में 154 गेंदों पर 13 चौकों की मदद से 80 रन बनाकर नाबाद लौटीं। यह महिला क्रिकेट में फॉलोऑन खेलते हुए किसी बल्लेबाज का तीसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। साल 2014 में पहली बार टीम इंडिया में जगह बनाने वाली स्नेह रेलवे के लिए चयन से पहले हरियाणा और पंजाब की ओर से अंडर-19 में खेल चुकी हैं। स्नेह ने अब तक 7 वनडे और 5 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं।

Previous articleजमशेद जी टाटा हैं दुनिया के सबसे बड़े परोपकारी दानदाता : हुरुन रिपोर्ट
Next articleएथेनॉल को पेट्रोल का विकल्प बनाने की तैयारी में है सरकार
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three + 9 =