गर्मी में रखें खुद को ठंडा और तरोताजा

0
46

गर्मियों ने अप्रैल के महीने में ही अपना कहर बरपाना शुरु कर दिया है। आप अगर इन दिनों में दोपहर के समय कहीं किसी काम से भी बाहर जाते हैं तब आप इन दिनों में लू की चपेट में आ सकते हैं। यहां हम आपको इस भयंकर गर्मी से बचने के कुछ उपाय बताने जा रहें हैं…

प्रोटीन युक्त आहार से बचें
गर्मियों के दौरान प्रोटीन से भरपूर भोजन को अपने आहार में ज्यादा मात्रा में शामिल करने से मेटाबॉलिक गर्मी बढ़ सकती है और शरीर गर्म हो सकता है। विभिन्न प्रकार के बेरी से बने प्रोटीन युक्त शेक आज़माएं, ताकि आपको आवश्यक प्रोटीन मिल सके और साथ ही आपके शरीर को ज़्यादा गरम होने से बचाया जा सके।

अपने कॉस्मेटिक्स और क्रीम को ठंडा करें
अपने लोशन, मॉइस्चराइज़र और क्रीम को रेफ्रिजरेटर में रखना एक अच्छा विचार है। पहले तो ये जल्दी खराब नहीं होंगे दूसरा आपकी स्किन पर एक रिफ्रेशिंग सेंसेशन पैदा करेंगे।

गर्म पानी की बोतल इस्तेमाल करें
इस बात से इतना चौंके नहीं यहां हम आपको सिर्फ गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करने के लिए कह रहें हैं न कि गर्म पानी का प्रयोग करने के लिए। एक गर्म पानी के बोतल लें और उसमें ठंडा पानी भर लें। इसे अपने घुटनों के नीचे रखें, और ठंडक का आनंद लें, क्योंकि यह आपके पूरे शरीर में फैलती है।

मिंट का इस्तेमाल करें
पुदीने या फिर मिंट एक किस्म का भ्रम पैदा करने में सक्षम हैं जो आपको ठंडक का एहसास कराती है जब आप चिलचिलाती गर्मी में हों। यह एक अच्छा विचार है, भोजन के बाद पुदीना खाना; अपने हाथों पर मिंट एयर फ्रेशनर छिड़कें, अपने पानी में पुदीने की पत्तियां डालें और यहां तक कि ठंडे स्नान के बाद अपने शरीर पर कुछ पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल भी लगाएं। इससे आपको ठंडक महसूस होगी।

हाइड्रेटेड रहें
गर्मियों हाइड्रेटेड रहना कितना जरूरी है इस बात को हमें आपको बतानें की जरूरत नहीं है। सुनिश्चित करें कि आपके शरीर में पानी की कमी नहीं है। गर्मी में पसीने के रूप में हमारे शरीर से बहुत पानी बह जाता है, इसलिए नियमित रूप से पानी पीकर खुद को हाइड्रेट रखें। अत्यधिक परिस्थितियों में डिहाईड्रेशन गंभीर कमजोरी, थकान और अन्य बीमारियों का कारण बन सकता है।

उपयुक्त कपड़े पहनें
गर्मियों में सूरज आपके ऊपर कहर बरपा रहा होता है ऐसे में आपको उसी के अनुसार कपड़े पहनने चाहिए। अन्य सामग्री के बजाय सूती कपड़े चुनें, क्योंकि यह बेहद हल्का और शोषक होता है। साथ ही, हल्के रंगों का प्रयोग करें, क्योंकि गहरे रंगों में गर्मी को अवशोषित करने की प्रवृत्ति होती है, जबकि हल्के रंग सूर्य के विकिरण को दर्शाते हैं।

Previous articleकैंसर की रोकथाम या इलाज में भी कारगर हो सकती है मुलेठी – अध्ययन
Next article बेकार पड़ी चीजों से सजाएं अपना घर
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − ten =