प्रतिकूल स्थितियों भी अपनी हिम्मत बनाए रखकर ही नया इतिहास लिख सकती हैं आप

1
173

प्रश्न. ऑनलाइन एग्जाम के मार्क्स के ऊपर सभी यूनिवर्सिटी वालो ने एडमिशन दिया क्यों? क्या ये उचित था क्या इस पर कोई प्रश्न नहीं उठना चाहिए? – राधा ठाकुर

उ. बिल्कुल उठना चाहिए। सभी विश्वविद्यालयों को प्रवेश परीक्षा लेनी चाहिए। मैंने खुद इस सवाल को फेसबुक पर उठाया था। ऑनलाइन परीक्षण पद्धति में बहुत घालमेल हुआ है, दोनों ओर से। विद्यार्थियों ने भी बहुत छूट ली है और अध्यापकों ने भी अतिरिक्त रूप से सदाशयता दिखाई है। जिन लोगों ने ईमानदारी दिखाई उन्हें कहीं प्रवेश नहीं मिला। उनकी कोई गलती नहीं है लेकिन खामियाजा तो भुगतना पड़ा। हालांकि यह स्थिति हर जगह नहीं है लेकिन जहां भी ऐसा हुआ है, गलत हुआ है। इसका विरोध होना चाहिए।

प्र.स्त्रियों की पढ़ाई की सीमा क्यों बंधी जाती है क्यों आधे पर रोक दिया जाता है क्या स्त्रियों की पढ़ाई का कोई महत्व नहीं या उसका पढ़ना जरूरी नहीं है? – राधा ठाकुर

उ. स्त्रियों का पढ़ना तो सबसे जरूरी है। जहां तक बीच में रोक देने की बात है तो अब स्थितियां कमोबेश बदल रही हैं। लड़कियां भी उच्च शिक्षा प्राप्त कर‌ रही हैं और नये कीर्तिमान स्थापित कर रही हैं।

प्र. जो लड़कियाँ आगे बढ़ने की राह में लगातार अपने ही घर से अड़चनों का सामना कर रही हैं, वह क्या करें? खासकर तब जब उनको घर से अकेले निकलने तक नहीं दिया जाये?

(नाम और पहचान गोपनीय)  

उ. लड़कियों को स्थितियों का विरोध करना चाहिए। अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए छोटा मोटा काम करने से भी परहेज नहीं करना चाहिए क्योंकि पढ़ाई बंद होने का सबसे बड़ा कारण आर्थिक होता है। कुछेक अपवादों को छोड़ दें तो लड़कियों के लिए हमेशा से ही आगे बढ़ने की राहें आसान नहीं रही हैं। इस स्थिति में सबसे बड़ी जरूरत है, हौसला बनाए रखने की। उन तमाम लड़कियों से जो अपनी-अपनी जगह पर संघर्षरत हैं, से मेरा एक ही संदेश है कि वे हिम्मत न हारें। कोशिश जारी रखें। प्रतिकूल स्थितियों भी अपनी हिम्मत बनाए रखकर ही वे नया इतिहास लिख सकती हैं।

 

अपने सवाल हमें भेजें, अगर आप चाहें तो आपकी पहचान गोपनीय रखी जायेगी। व्हाट्सऐप करें – 9163986473

Previous articleसुशीला बिड़ला गर्ल्स स्कूल में गणतंत्र दिवस समारोह
Next articleसमानता के द्रष्टा श्रीपाद स्वामी रामानुजाचार्य
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

1 COMMENT

  1. Hi! I’m at work surfing around your blog from my new iphone!
    Just wanted to say I love reading through your blog and look forward to all your
    posts! Keep up the outstanding work!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − 2 =