भवानीपुर कॉलेज का थियेटर फेस्ट 2022 सम्पन्न

0
80
लिटिल थेस्पियन की निदेशक उमा झुनझुनवाला को सम्मानित करते प्रो. दिलीप शाह

प्रथम रहा भवानीपुर कॉलेज

कोलकाता । भवानीपुर एजूकेशन सोसाइटी कॉलेज का तीन दिवसीय थियेटर फेस्ट 2022 आज संपन्न हुआ।कॉलेज के डीन प्रो दिलीप शाह ने अपने स्वागत वक्तव्य में थियेटर फेस्टिवल 2022 के थीम विषय मुखौटे पर अपनी बात रखते हुए कहा कि हर व्यक्ति में कई व्यक्ति होते हैं लेकिन वह चेहरा उसी व्यक्ति का होता है। कोलकाता के लगभग ग्यारह कॉलेज शिक्षायतन कॉलेज, लॉरेट कॉलेज, हेरिटेज कॉलेज, आदि से आए कलाकार और नाटक प्रतिस्पर्द्धा में भाग लेने वाले सभी विद्यार्थियों का स्वागत किया और कहा इस कार्यक्रम का उद्देश्य है सभी कॉलेजों के नाट्यकला के विद्यार्थियों का आपसी मेलजोल हो और वे मिलकर नाटक का मंचन करें जिससे बड़ी संख्या में विद्यार्थियों की उपस्थिति बतौर दर्शक रहेगी। वर्तमान में नाटक में तकनीकी विकास के क्षेत्र में हुई प्रगति के विषय में भी बताया है
।तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में विभिन्न प्रकार के नाटकों का मंचन किया गया।अॉडियो ड्रामा, स्ट्रीट प्ले, मोनो एक्ट, कॉमेडी ड्रामा, इमप्रोव, बोर्डरूम ड्रामा, एड स्पुफ, स्टेज प्ले आदि कार्यक्रम का उद्घाटन किया लिटिल थेस्पियन और पश्चिम बंगाल साहित्य अकादमी के कला विभाग की प्रमुख रंगमंच की मशहूर हस्ती उमा झुनझुनवाला ने। उन्होंने अपने वक्तव्य में नाटक को पंचम वेद बताते हुए जीवन के सभी रसों से पूर्ण बताया और नाटक हमें अनुशासन सिखाते हैं।
तीन दिनों तक चलने वाले इस थिएटर फेस्टिवल प्रतियोगिता में कई प्रमुख नाट्यमंच के प्रमुख व्यक्तित्वों में सुप्रभो टैगोर, रित्विका चौधरी , एरोन टार्गिन , देबप्रियो मुखर्जी, पलाश चतुर्वेदी, शुभम् सिंह आदि ने विविध प्रकार के मंचन किए गए नाटकों पर निर्णय दिया।
थियेटर फेस्ट में विद्यार्थियों ने फुड स्टॉल भी लगाए। छात्र छात्राओं के वॉलंटियर्स ने सभी प्रकार के मैनेजमेंट के तहत कार्य किए। कार्यक्रम को सफल बनाने में कॉलेज के पदाधिकारियों, शिक्षकों और शिक्षिकाओं तथा इन एक्ट के विद्यार्थियों का पूर्ण रूप से सहयोग रहा। डीन प्रो दिलीप शाह, प्रो मीनाक्षी चतुर्वेदी, प्रो दिव्या उदेशी ने इस कार्यक्रम की रूपरेखा आयोजित की। डॉ वसुंधरा मिश्र ने कार्यक्रम की जानकारी दी । थियेटर फेस्ट 2022 में प्रथम भवानीपुर एजूकेशन सोसाइटी कॉलेज, द्वितीय स्कॉटिश चर्च कॉलेज और श्री शिक्षायतन कॉलेज, तृतीय विमेन्स क्रिश्चियन कॉलेज रहे।

Previous articleभारत जैन महामंडल लेडीज विंग ने नेत्रहीन बच्चों को करवाया भोजन
Next articleकोरोना बीता, अब धूमधाम से मना गणगौर उत्सव
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 5 =