भवानीपुर कॉलेज ने सरस्वती सम्मान समारोह में शिक्षक और शिक्षिकाएँ पुरस्कृत

0
194

कोलकाता । भवानीपुर एजुकेशन सोसाइटी कॉलेज में सरस्वती पूजा उत्सव के दौरान लगभग 33 शिक्षकों को सरस्वती सम्मान 2022 से पुरस्कृत किया गया। हर वर्ष यह पुरस्कार उन शिक्षकों को दिया जाता है जिनके पुस्तकों और आलेखों का प्रकाशन यूजीसी के तहत हुआ है। उन्हें शाल और धनराशि देकर पुरस्कृत किया गया ।इस वर्ष पी. एचडी प्राप्त शिक्षकों को भी सम्मानित किया गया। वालिया हॉल में स्थापित सरस्वती मूर्ति की पूजा का प्रांरभ कॉलेज प्रबंधन की वरिष्ठ अधिकारी नलिनी पारेख द्वारा किया गया। विद्यार्थियों के साथ सभी शिक्षकों और शिक्षिकाओं ने आरती कर माँ सरस्वती को पुष्पांजलि अर्पित की। बाद में, छात्र – छात्राओं ने शंख, रंगोली, थाली सज्जा और संस्कृत श्लोक की प्रतियोगिता में हिस्साी लिया। सभी कार्यक्रम कॉलेज के टर्फ पर संपन्न हुआ, शंख बजाने में शिक्षक और शिक्षिकाओं ने भी हिस्सा लिया। कार्यक्रम का संचालन दीप्ति पंचारिया और ओम पचीसिया ने किया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रारंभ सरस्वती वंदन नृत्य, संगीत से हुआ। पारंपरिक वेशभूषा में छात्रों ने भी नृत्य किया।
कॉलेज के डीन प्रो दिलीप शाह ने उपस्थित बीस से अधिक शिक्षकों को सम्मानित किया, साथ ही कॉलेज की कोआर्डिनेटर प्रो मीनाक्षी चतुर्वेदी, टीआईसी डॉ सुभब्रत गंगोपाध्याय,, नलिनी पारेख, रेणुका भट्ट, प्रो दिव्या उदेशी, जितू भाई , उमेश ठक्कर, प्रो गार्गी, प्रो कृपा शाह , डॉ. वसुंधरा मिश्र एवं सभी छात्र छात्राओं के प्रतिनिधियों ने अपना सक्रिय योगदान दिया। महाप्रसाद और पूजा-अर्चना की सभी तैयारियाँ गैर शैक्षणिक कर्मचारियों द्वारा की गई। इस अवसर पर कॉलेज के उपाध्यक्ष मिराज शाह ने अपने वक्तव्य में सभी शिक्षकों को सरस्वती सम्मान समारोह की शुभकामनाएँ दी। प्रतिभागी विद्यार्थियों में एलोरा चौधरी, सुजल शाॉ, मोहित गुप्ता शंख प्रतियोगिता में क्रमशः प्रथम, द्वितीय और तृतीय रहे। श्लोक प्रतियोगिता में गौरव चौधरी, कशिश दोलानी और ओम पचीसिया क्रमशः प्रथम, द्वितीय और तृतीय, आरती थाली सज्जा में निहारिका मूधडा़, कृपा सहल, एलोरा चौधरी क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय एवं रंगोली सज्जा में प्रथम अलका सिंह, मौमिता राय, द्वितीय विनिता रे, श्रुति प्रधान और तृतीय स्थान पर रुकय्या कानपुरवाला और जाहरा कलकत्ता वाला रहे। इस अवसर पर शिक्षकों में प्रो चिरंजीत, प्रो अरुंधति, प्रो सम्पा सिन्हा आदि शिक्षकों ने शंख वादन कर विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया।
सभी विद्यार्थियों और शिक्षक गणों तथा गैर शैक्षणिक कर्मचारियों एवं सुरक्षा कर्मियों को सभी मौसमी फलों का प्रसाद, लड्डू और खिचड़ी, सब्जी, कूल चटनी, आदि का महाप्रसाद ग्रहण किया । कार्यक्रम की जानकारी दी डॉ वसुंधरा मिश्र ने।

Previous articleतीन दिवसीय राष्ट्रीय शीतकालीन खेलों का समापन
Next articleसुशीला बिड़ला गर्ल्स स्कूल में आयोजित हुई वर्चुअल पिकनिक
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 + 20 =