राजू श्रीवास्तव : सबके दिल में बस गये गजोधर भइया

0
36

कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव का निधन हो गया है। राजू श्रीवास्तव स्टेज पर तो अपनी शानदार कॉमेडी से सबको हंसाते ही थे इसके अलावा वह असल जिंदगी में भी बहुत जिंदादिल इंसान थे। राजू की प्रोफेशनल लाइफ के बारे में तो ज्यादातर लोग जानते हैं लेकिन उनके निजी जीवन के बारे में कम ही लोगों को पता है। यहां जानिए उनकी जिंदगी के अनसुने किस्से…

पहली बार घर से भागने में असफल

राजू श्रीवास्तव सिनेमा को बहुत पसंद करते थे और इसी वजह से उनकी मां को हमेशा लगता था कि वह एक दिन कहीं भागकर मुंबई न चले जाए। एक बार ऐसा हुआ भी। एक दिन राजू श्रीवास्तव अचानक ही अपने घर से मुंबई जाने के लिए निकल गए थे। हालांकि, तब उनके दोस्त ने मां को सब बता दिया था, जिसके बाद मां तुरंत ही स्टेशन निकल पड़ीं। इस दौरान राजू श्रीवास्तव की मां ने बड़ी मशक्कत के बाद उन्हें एक ट्रेन से खोज निकाला। इसके बाद उन्हें स्टेशन पर भी खूब डांट पड़ी।

झूठ बोलकर फिल्म देखने जाते थे

राजू श्रीवास्तव को बचपन से ही सिनेमा का शौक रहा था। इसी वजह से वह स्कूल बंक करके भी सिनेमा देखने जाते थे। लेकिन जब उनकी मां को यह सब पता चला तो वह राजू को सिनेमा हॉल में ही ढूंढ़ने चली गईं। कहा जाता है कि उस दिन उन्हें खूब डांट पड़ी। हालांकि, इसके बाद भी उन्होंने सिनेमा देखने का तोड़ निकाल लिया था। उनकी मां धार्मिक इंसान थीं और इसी वजह से पकड़े जाने पर वह रामलीला का बहाना करके फिल्म देखने जाते थे। लेकिन इसके बाद भी कॉमेडियन पकड़े गए थे।

बेहद नेकदिल इंसान थे 
राजू श्रीवास्तव एक बेहद ही नेकदिल इंसान थे और समय पड़ने पर सभी की मदद भी किया करते थे। उनके दोस्त अशोक (जो खुद भी कॉमेडियन हैं) ने राजू श्रीवास्तव के साथ बिताए पलों को याद करते हुए बताया कि एक दिन अचानक राजू श्रीवास्तव ने उन्हें महालक्ष्मी के डीएस स्टूडियो में रिकॉर्डिंग के लिए बुलाया था और कहा था कि आईए एक दो लाइन आप भी बोल दीजिए। अशोक कहते हैं कि मैं उनका बड़प्पन कभी नहीं भूल सकता। जिंदगी में पहली बार मेरे हाथ में डेढ़ सौ रुपया कैश था जो उन्होंने दिलवाया था। इसके  बाद उन्होंने खाना भी खिलवाया। अशोक कहते हैं कि मुंबई आने के बाद पहली बार मैंने भरपेट खाना खाया था। इसके बाद राजू श्रीवास्तव ने यहां तक कहा था कि तुम मेरे घर पर आकर रहो।
जब भीड़ से बचने के लिए महिला के घर चले गए थे 
राजू श्रीवास्तव असल जिंदगी में भी बेहद सरल इंसान थे। एक बार कॉमेडियन राजू मसूरी गए हुए थे, जहां पर वह सुबह को मॉर्निंग वॉक करने निकले। इस दौरान लोगों ने उन्हें पहचान लिया और सेल्फी खींचने के लिए घेर लिया। भीड़ से बचने के लिए राजू श्रीवास्तव एक व्यापारी की मां के साथ उनके घर चले गए थे।
(साभार – अमर उजाला)
Previous articleनवरात्रि में पोषक हो आपका आहार
Next articleशुभजिता दुर्गोत्सव – 2022 पूजा परिक्रमा
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 12 =