लौटी आभूषण बाजार की रौनक, दार्जिलिंग में खुला एचके ज्वेल्स का ‘किसना’

0
115

धनतेरस का बाजार इस बार उद्योग जगत के लिए अच्छी खबर आया। पिछले वर्ष की तुलना में तो इस साल बाजारों में रौनक रही और आभूषणों की माँग में भी वृद्धि देखी गयी और नये स्टोर भी खुले। हरि कृष्ण समूह के एचके ज्वेल्स के निदेशक पराग शाह कहते हैं “आज, हम पिछले साल की तुलना में इस धनतेरस पर 22% ~ 25% की वृद्धि देख रहे हैं। धनतेरस के अवसर पर सोना खरीदना। दिन भाग्य और समृद्धि का प्रतीक है जो न केवल भारतीय परंपरा के लिए बल्कि हमारी संस्कृति का एक अभिन्न अंग है। उपनगरीय इलाकों और छोटे शहरों से सोने की मांग भी आज अधिक है। साथ ही, दो साल की मानसिक चिंता और चुनौतियों के बाद, ग्राहक उत्सुक हैं। सोने, आभूषण और अन्य कीमती धातुओं में खर्च करने और निवेश करने के लिए। अक्टूबर 2021 में सातवें वेतन आयोग की घोषणा से डीए में बढ़ोतरी और दिवाली से पहले बकाया राशि में वृद्धि रत्न और आभूषण उद्योग के लिए अच्छी है। साथ ही, आगामी शादी के मौसम की भी संभावना है बदला लेने की खरीदारी देखें एचके ज्वेल्स प्राइवेट लिमिटेड पिछले साल की तुलना में इस धनतेरस पर 22% ~ 25% की खुदरा बिक्री में वृद्धि देख रहा है।
वहीं एच के ज्वेल्स ने बंगाल में भी अपने स्टोर खोलने शुरू किये हैं। कंपनी ने दार्जिलिंग में किसना स्टोर लॉन्च किया है जिसके मालिक हैं श्री अमित चौधरी और यह कंपनी का पश्चिम बंगाल में पहला फ्रेंचाइजी है। सिलीगुड़ी ज़िले में स्थित 700~800 वर्गफुट आकार के स्टोर में पैसों के लिए मूल्य और प्रीमियम सेगमेंट इन दोनों के हिसाब से कलेक्शन की एक वैविध्यपूर्ण रेंज प्रदर्शित की गई है। कंपनी के पास संपूर्ण भारत में 3400 से अधिक रिटेल स्टोर हैं।
पराग शाह कहते हैं कि छोटे शहरों में ब्रांडेड आभूषणों की माँग है।
इनमें से ज़्यादातर बाज़ार कार्यक्रम चालित खपत या उच्च रुप से व्यापक कंपनियों की मांग पूरी करते हैं लेकिन किसना किफायती और सुविधाजनक मूल्य पर रोज़मर्रा के आभूषण भी उपलब्ध कराएगी। किसना में हमने अच्छी तर डिज़ाइन की गई, किफायती लेकिन फिर भी महत्वाकांक्षी ज्वेलरी के कम सेवा प्राप्त सेगमेंट के लिए सेवा उपलब्ध कराके इस श्रेणी में अग्रणी बनने का लक्ष्य रखा है। एक समृद्ध विरासत का एक भाग होना, प्रापण, प्रक्रिया और डिज़ाइन में हमारी ताकत हमें एक ऐसी लाभ वाली स्थिति में लाती है जिससे हम आत्म-विश्वास की भावना के साथ कीमत को लेकर संवेदनशील और प्रीमियम ज्वेलरी श्रेणी दोनों में मार्गनिर्देशन कर सकते हैं। ”

 

 

 

 

 

 

Previous articleसाहित्य के आकाश का खोया हुआ सितारा कवयित्री विष्णुप्रसाद कुंवरि
Next articleसम्भलिए और दीये के उत्सव में मन का दीया आलोकित कीजिए
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − fifteen =