सम्मानित किये गये ‘खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021’ के विजेता

0
53

कोलकाता । जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) ने खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स 2021 के चैंपियंस को सम्मानित किया। विजेताओं को विश्वविद्यालय द्वारा प्रोत्साहनस्वरूप नकद राशि दी गयी। संस्थान के खेल विभाग द्वारा बेंगलुरु के सीएमएस बिजनेस स्कूल में केआईयूजी 2021 को लेकर सम्मान समारोह आयोजित किया गया। समारोह के विशिष्ट अतिथि जैन (डीम्ड-टू-बी-विश्वविद्यालय) के प्रधान सलाहकार पद्मश्री डॉ. सी.जी. कृष्णदास नायर थे। डॉ। जैन ग्रुप के संस्थापक और जैन के चांसलर (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी के चेनराज रॉयचंद, स्पोर्ट्स डायरेक्टर डॉ. शंकर यूवी जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) समेत अन्य अतिथि भी उपस्थित थे।
गौरतलब है कि जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) हाल ही में समाप्त हुए खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स (केआईयूजी) 2021 के दूसरे संस्करण में 20 स्वर्ण, 7 रजत और 5 कांस्य सहित 32 पदक जीतकर अव्वल रहा। उनके उल्लेखनीय प्रदर्शन के लिए एक पुरस्कार के रूप में, जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) ने रुपये के नकद पुरस्कार की घोषणा की। इसके तहत शिव श्रीधर को 2,75,000 रु. श्रुंगी बांदेकर को 1,97,000 रुपये, रु. श्रीहरि नटराज को 1,55,000 और रु. प्रिया मोहन को 1,50,000। अन्य विजेताओं को भी नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।
शिव श्रीधर टीम के लिए सात स्वर्ण पदक जीतकर स्टार तैराक के रूप में उभरे। इसके अलावा, उन्होंने पुरुषों की 200 मीटर व्यक्तिगत स्पर्द्धा में एक नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया। ओलंपियन श्रीहरि नटराज ने विभिन्न तैराकी स्पर्द्धाओं में 3 स्वर्ण पदक जीते, जबकि श्रुंगी बांदेकर ने 4 स्वर्ण पदक जीते।
मेजबान विश्वविद्यालय की प्रिया मोहन ने महिलाओं की 200 मीटर दौड़ के फाइनल और महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में दो स्वर्ण पदक जीते। जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) की सात-पुरुष कराटे टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया और सैयद बाबा ने एकल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) की पुरुष और महिला बैडमिंटन टीमों ने अपने निर्धारित प्रदर्शन से स्वर्ण और दर्शकों का दिल जीता। तलवारबाजी, महिला पोल वॉल्ट और भारोत्तोलन टीमों ने असाधारण प्रदर्शन दर्ज किया और विश्वविद्यालय के लिए पदक जीते।
जैन ग्रुप के संस्थापक और जैन (डीम्ड-टू-बी यूनिवर्सिटी) के चांसलर चेनराज रॉयचंद ने विजेताओं को बधाई दी।
कार्यक्रम में बोलते हुए डॉ. जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) के खेल निदेशक शंकर यूवी ने कहा, “हमारे 30 वर्षों के प्रयासों का परिणाम हाल ही में समाप्त हुए केआईयूजी के दूसरे संस्करण में दिखाई दे रहा था। हमारे खेल दल ने अपनी जबरदस्त खेल भावना से हमें राष्ट्रीय और वैश्विक मानचित्रों पर मजबूती से स्थापित किया है।
विश्वविद्यालय के लिए सबसे अधिक पदक जीतने वाले शिव श्रीधर ने कहा, “हम चैंपियन बनकर बहुत खुश और गर्व महसूस कर रहे हैं और हमारे खेल में उत्कृष्टता के लिए हमें सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शन और समर्थन प्रदान करने के लिए जैन (डीम्ड-टू-बी-यूनिवर्सिटी) के आभारी हैं। हमें उस विश्वविद्यालय का हिस्सा होने पर गर्व है जो अकादमिक उत्कृष्टता के साथ खेल संस्कृति को अपने पाठ्यक्रम में शामिल करता है।”

Previous articleकोलकाता के छात्रों ने गुजरात में जीता राष्ट्रीय स्तर का हैकथॉन
Next articleब्लैक कर्टेन थिएटर – मंचप्रदर्शन ने किया 2 नाटकों का मंचन
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 5 =