हल्दिया के विकास के लिए उद्योग और सरकार में हो साझीदारी

0
42

हल्दिया । मर्चेंट्स चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इडस्ट्री ने हल्दिया में “एमसीसीआई डेस्टिनेशन हल्दिया 2022” नामक सेमिनार आयोजित किया। कठिन समय में विकास विषय पर आयोजित यह सेमिनार द्विस्तरीय एवं त्रिस्तरीय शहरों तक पहुँचने के अभियान का अंग था। सेमिनार का उद्धाटन । मुख्य अतिथि के रूप में राज्य के एमएसएमई एवं टेक्सटाइल राज्य मंत्री श्रीकांत महता ने किया हल्दिया नगर पालिका के अध्यक्ष सुधांशु मण्डल और विशिष्ट अतिथि हल्दिया विकास प्राधिकरण के चेयरमैन ज्योर्तिमय कर उपस्थित थे।
सेमिनार को संबोधित करते हुए राज्य मंत्री श्रीकांत महता ने हल्दिया की विकास क्षमता के बारे में बताया। उन्होंने पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा बनाए गए उद्योग अनुकूल माहौल और इस क्षेत्र में नए उद्योग स्थापित करने के लिए एकल खिड़की योजना के बारे में बताया। उन्होंने हल्दिया को विकास पथ पर ले जाने के लिए उद्योग और सरकार के बीच आपसी समर्थन और सहयोग पर जोर दिया। सुधांशु मंडल ने उद्योगपतियों को हल्दिया और उसके आसपास के क्षेत्र में निवेश करने और इकाइयां स्थापित करने के लिए आगे आने के लिए आमंत्रित किया, क्योंकि इस क्षेत्र में उद्योग रखने के लिए इसका सबसे अच्छा पारिस्थितिकी तंत्र है।
ज्योतिर्मय कर ने हल्दिया में उद्योग के अनुकूल माहौल का उल्लेख किया जहां कोई हड़ताल नहीं है और न ही मानव दिवस का नुकसान होता है। उन्होंने औद्योगिक इकाइयों के लिए हर संभव समर्थन का आश्वासन दिया।
सेमिनार के अन्य मुख्य वक्ताओं में पूर्व मिदनापुर के अतिरिक्त। जिला मजिस्ट्रेट, भूमि और भूमि सुधार श्री अनिर्बान कोले, हल्दिया की अतिरिक्त। पुलिस अधीक्षक श्रद्धा एन पांडे, पूर्व मिदनापुर के डिस्ट्रिक्ट इंडस्ट्रीज सेंटर के जी एम गौतम साधुखान, इंडोरामा इंडिया प्रा। लिमिटेड के सीओओ चंद्र शेखर प्रसाद, एक्साइड इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चीफ ऑपरेशन मैनेजर टी. के. पान, और पश्चिम मिदनापुर जिला चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष आनन्द गोपाल उपस्थित थे।
स्वागत भाषण में एमसीसीआई की ट्रान्सपोर्ट एवं शिपिंग की लॉजिस्टिक काउंसिल के चेयरमैन लवेश पोद्दार ने कहा कि चेम्बर हल्दिया के विकास को अगले स्तर पर ले जाने के लिए सभी महत्वपूर्ण हितधारकों के साथ हल्दिया में एक परिषद स्थापित करने की योजना बना रहा है। उन्होंने इस पहल में अधिकारियों और हितधारकों से समर्थन और सहयोग मांगा।
फोरम में सरकारी अधिकारियों, हल्दिया के कॉर्पोरेट क्षेत्र और पुरबा और पश्चिम मिदनापुर की एमएसएमई इकाइयों ने भाग लिया। सत्र का समापन एमसीसीआई के डायरेक्टर जनरल डॉ. सौगत मुखर्जी के धन्यवाद ज्ञापन से हुआ।

Previous articleबीएचएस में इंटर हाउस डिबेट आयोजित
Next articleकेंद्र ने दी पांच वर्ष में सात शहरों, नगरों के नाम बदलने की मंजूरी : सरकार
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 2 =