होली पर बिखर जाए स्वाद के रंग

0
65

उड़द दाल की चंदिया
सामग्री – उड़द की दाल ढाई सौ ग्राम धुली हुई या छिलके वाली, सरसों का तेल आवश्यकतानुसार, 50 ग्राम राई पीसी हुई, 2 हरी मिर्च, एक टुकड़ा अदरक, दो चुटकी हींग, नमक स्वादानुसार, काली मिर्च।

विधि – रात को उड़द की दाल पानी में भिगोकर रख दें। सुबह इसे पीस लें। पीसते समय इसमें मिर्ची और अदरक शामिल कर दें। ध्यान रहे कि मिक्सचर गाढ़ा हो ताकि आसानी से चंदिया बनाई जा सकें।अब कढ़ाही में तेल को गर्म कर लें। तेल गर्म होने के बाद हथेली पर थोड़ा सा दाल का पेस्ट लें और उसे गोल करते हुए चपटा कर लें। जब तेल खूब तेज गर्म हो जाए, तो गैस को धीमा कर दें और उसमें चंदिया तल कर निकाल लें। ध्यान रहे कि चंदिया का रंग सुनहरा हो जाना चाहिए।अब एक मिट्टी की बर्नी में पानी रखें और उसमें चंदिया, राई का मसाला, नमक, हींग, काली मिर्च डाल कर तैयार कर लें। आधे घंटे रखने के बाद आप देखेगी की पानी अब खट्टा हो चुका है और आपको चंदिया गल चुकी हैं। अब यह परोसने के लिए तैयार है।

अमृतसरी आलू कुलचा
सामग्री- भरावन के लिए- 6 उबले हुए आलू, 1/2 टी स्पून लाल मिर्च पाउडर, 2 हरी मिर्च कटी , 1 टी स्पून चाट मसाला, 1 टेबलस्पून हरा धनिया पत्ती, नमक स्वादानुसार
कुलचा बनाने के लिए सामग्री- 2 कप मैदा, 1/2 कप दही, 1/2 टी स्पून बेकिंग सोडा, 2 टेबलस्पून चीनी का बूरा, सूखा मैदा, नमक स्वादानुसार


विधि- आलू कुलचा बनाने के लिए सबसे पहले आलू को उबालकर उसके छीलके निकालकर उसे एक बर्तन में मैश कर लें। अब मैश किए हुए आलूओं में लाल मिर्च पाउडर, गरम मसाला, चाट मसाला, कटी हरी मिर्च, धनिया पत्ती और नमक डालकर अच्छे से मिक्स कर दें। अब एक दूसरे बर्तन में मैदा डालकर चीनी, बेकिंग सोडा, दही और स्वादानुसार नमक डालकर मिक्स कर लें। अब इस आटे को थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर गूंथते हुए उससे सॉफ्ट आटा तैयार कर लें। आटा गूंथने के बाद उसे 20 मिनट के लिए अलग रख दें। तय समय के बाद आटे में एक चम्मच तेल डालकर उसे एक बार फिर अच्छे से गूंथ लें। अब इस आटे की बड़ी लोइयां तैयार कर लें। अब एक बड़ी लोई लेकर उसे हल्का सा दबाएं। अब इसमें सूखा मैदा लगाकर हल्का मोटा बेल लें।
अब इसमें एक चम्मच आलू का मिश्रण रखकर चारों ओर से पैक कर उसकी लोई बना लें। अब लोई के एक तरफ धनियापत्ती रखकर उसे दबा दें। उसके बाद लोई पलटकर उसमें थोड़ा सा मैदा लगाकर आप जैसा चाहें उस आकार में कुलचा उसे बेल लें। अब मीडियम आंच पर नॉनस्टिक तवा गर्म कर लें। अब बेले हुए कुलचे पर हल्का सा पानी लगाकर तवे पर डालें। ध्यान रखें तवे पर कुलचे की उस साइड को रखें जहां धनिया पत्ती न लगी हुई हो। पानी लगाने से कुलचा तवे पर अच्छी तरह से चिपक जाएगा। जब कुलचा एक तरफ से अच्छे से सिंक जाए तो तवे को गैस की आंच पर उल्टा कर दें। ऐसा करने से धनिया की ओर का कुलचा भी अच्छे से सिक जाएगा। कुलचा जब अच्छे से सिक जाए तो उसे तवे से हटा लें और उस पर मक्खन लगा दें। आपका आलू कुलचा बनकर तैयार हो चुका है। इसे दही या रायते के साथ सर्व करें।

Previous articleपुस्तक समीक्षा – टुकड़ा टुकड़ा सच काव्य संग्रह पढ़ते हुए
Next articleहोली पर विशेष – आन्ध्र प्रदेश के सिंहाचल में विराजमान हैं भगवान नृसिंह
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − fourteen =