1500 करोड़ से ज्यादा में बिकी ‘मर्लिन मुनरो’ की शानदार पेंटिंग

0
65

20वीं सदी के सबसे महंगी कलाकृतियों में शामिल
आइकॉनिक अमेरिकन एक्ट्रेस मर्लिन मुनरो की पेंटिंग 1500 करोड़ रुपये ($195 मिलियन) से ज्यादा में बिकी है। इस पेंटिंग को न्यूयॉर्क ऑक्शन में सबसे मंहगी कीमत में बेचा गया। पेंटर एंडी वारहोल ने एक्ट्रेस के निधन के 2 साल बाद 1964 में इसे पेंटिंग को बनाया था। नीलामी से मिलने वाले फंड को अनाथ बच्चों की मदद के लिए लगाया जाएगा।

1500 करोड़ में बिकी पेंटिंग
मर्लिन मुनरो की पेंटिंग का नाम “शॉट सेज ब्लू मर्लिन” है। ये आर्टवर्क मैनहट्टन के क्रिस्टी हैडक्वार्टर में केवल चार मिनट में ही 1500 करोड़ से ज्यादा कीमत में बिका। इसके साथ ही ये 20 वीं सदी का सबसे मंहगा आर्टवर्क हो गया है। हालांकि, पोर्ट्रेट खरीदने वाले की पहचान अभी तक सामने नहीं आई है। नीलामीकर्ता ने कहा किसी अनजान खरीदार ने इस आर्टवर्क को खरीदा।

प्रदर्शनी के पैसे अनाथ बच्चों के लिए
पोर्ट्रेट की बिक्री का पैसा थॉमस एंड डोरिस अम्मान फाउंडेशन ज्यूरिख को जाएगा। यह फाउंडेशन पेंटिंग्स को नीलामी में प्रदर्शनी करती है। इस फाउंडेशन का मुख्य उद्देश्य पेंटिंग्स से आए पैसों से अनाथ बच्चों की सहायता करना है। ये अनाथ बच्चों को स्वास्थ्य एवं शिक्षा मुहैया करवाती है।

20 वीं सदी की सबसे महंगी कलाकृति
क्रिस्टी के मुताबिक, सेल से पहले पोर्ट्रेट की कीमत लगभग 200 मिलियन डॉलर होने का अनुमान लगाया जा रहा था। लेकिन इससे थोड़ी कम कीमत में बिकने के बाद भी इसने 20 वीं शताब्दी के पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया। इससे पहले यह रिकॉर्ड पाब्लो पिकासो की ‘वूमन ऑफ अलजीयर्स’ के नाम था, जो 2015 में 1385 करोड़ ($179.4 मिलियन) से ज्यादा में बिकी थी। 20 और 21वीं सदी के आर्ट डिपार्टमेंट के चेयरमैन एलेक्स रॉटर ने कहा, “ये एक बहुत अच्छी कीमत है।”

कौन हैं मर्लिन मुनरो?
मर्लिन मुनरो का जन्म 1926 में लॉस एंजलिस, कैलिफोर्निया में हुआ था। मर्लिन एक अमेरिकन एक्ट्रेस और मॉडल थीं। उन्होंने तीन शादियां की थीं, उनकी पहली शादी महज 16 साल की उम्र में हुई थी। मर्लिन मुनरो का नाम अमरीकी राष्ट्रपति जॉन कैनेडी से लेकर सिंगर फ्रैंक सिनात्रा और बेसबाल खिलाड़ी जो डिमैगियो तक से जुड़ा। एक्ट्रेस की मृत्यु 1962 में ड्रग ओवरडोज की वजह से हुई थी। कुछ लोग इसे हत्या भी कहते हैं, लेकिन आज तक मर्लिन की मौत सिर्फ एक रहस्य बनकर रह गयी है।

Previous articleF1 से F12 तक, कम्प्यूटर कीबोर्ड के शॉर्टकट्स आसान करेंगे काम
Next articleअखबारों पर बना है भरोसा, सबसे ज्यादा 82 प्रतिशत लोगों का प्रिंट पर भरोसा
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 2 =