अक्षय तृतीया पर आभूषण बाजार को 10 हजार करोड़ के कारोबार की उम्मीद

0
105

सोने में तेजी से मंदी के बावजूद माँग बढ़ेगी
कोलकाता । इस बार अक्षय तृतीया पर आभूषण उद्योग बेहतर रहने की उम्मीद है। हालांकि सोने की भारी कीमतों के कारण कारोबार थोड़ा कम रह सकता है मगर यह कोरोना पूर्व की स्थिति में पहुँच सकता है। एच के ज्वेल्स (किसना डायमंड ज्वेलरी) के निदेशक पराग शाह ने अक्षय तृतीया के कारोबार पर यह उम्मीद जतायी है। उन्होंने कहा कि हाल ही में लंबे समय तक वैश्विक उथल-पुथल के बाद चिंताएं बढ़ीं, उपभोक्ताओं ने बढ़ती मुद्रास्फीति को मात देने के तरीकों का सहारा लिया। उम्मीद है कि लोग मुद्रास्फीति को दूर करने के लिए इस अक्षय तृतीया पर परम्परा निभाएं और सोना खरीदें। कोरोना -19 के पूर्व 2019 में अक्षय तृतीया के दिन करीब 29,000 किलोग्राम सोने और आभूषणों का कारोबार हुआ। इस दौरान 35,000 रुपये प्रति 10 ग्राम सोने की दर से 10,000 करोड़ रुपये का व्यवसाय हुआ था। 50000 रुपये प्रति 10 ग्राम पर अधिक कीमत के कारण 20,000 किलोग्राम का पहले से कम व्यवसाय होगा। इस बार अक्षय तृतीया बाजार 10,000 करोड़ रुपये के पूर्व-महामारी के स्तर तक पहुंचने का अनुमान है। पूरे भारत में लगभग चार लाख सोने और आभूषण के व्यापारी हैं। भारत के आभूषण व्यापार के शीर्ष संगठन ऑल इंडिया ज्वैलर्स एंड गोल्डस्मिथ फेडरेशन के राष्ट्रीय संयोजक के अनुसार, अक्षय तृतीया और धनतेरस पर सोने की दूसरी सबसे बड़ी एकल-दिवस बिक्री है।
शाह ने कहा कि उनका ब्रांड किसना अक्षय तृतीया आभूषण बाजार में 1 प्रतिशत यानी 100 करोड़ रुपये पर कब्जा करने की इच्छा रखता है। अक्षय तृतीया के शुभ दिन सहित अप्रैल ~ मई 2022 सीजन के दौरान पूरे भारत में प्रदर्शनियों के माध्यम से लगभग 66 सुपर नॉर्मल मास कंज्यूमर कॉन्टैक्ट [एसएनएमसीसी] आयोजित होने की उम्मीद है। KISNA को इस सीजन में 15 फीसदी की वृद्धि की उम्मीद है।
मजबूत होगा स्वर्ण बाजार
सोने की कीमतों पर पर बात रखते हुए पराग शाह ने कहा कि अनिश्चितता और समसामायिक घटनाओं को लेकर बनी परिस्थितियों से सोने की कीमतों में तेजी आई। क्रिप्टो में नए निवेशकों के बढ़ते प्रवाह के भी सोना खरीदने की ओर बढ़ने की संभावना है। इससे भी सोने की कीमतों में मजबूती आने की संभावना है। स्पॉट गोल्ड की कीमतें 1 जनवरी, 2022 को 48157 रुपये प्रति 10 ग्राम (995 के) से 9.87% बढ़कर 14 अप्रैल 2022 को 52912 रुपये हो गईं, जो प्रभावी रूप से मार्च 2022 में आरबीआई द्वारा 12 अप्रैल 2022 को घोषित 6.95% की खुदरा मुद्रास्फीति का मुकाबला कर रही थीं। लंदन फिक्स से प्राप्त हुआ 4 जनवरी 2022 को 1811.40 अमरीकी डॉलर प्रति ट्रॉय औंस से 14 अप्रैल 2022 को 1963.25 अमरीकी डॉलर तक, इस अवधि के दौरान 8.38% की वृद्धि। इसके अलावा, क्रिप्टो की कीमतों पर अनिश्चितता और समझ की कमी एक आम आदमी के लिए सोने का विकल्प चुनना आसान बना रही है। वयोवृद्ध निवेशकों ने सोने में 10% हिस्सेदारी रखने का उल्लेख किया है क्योंकि मुद्राओं का अवमूल्यन किया जाएगा।

Previous articleभवानीपुर एजुकेशन सोसाइटी कॉलेज को शैक्षणिक सम्मान 
Next articleअक्षय तृतीया पर हल्के और आकर्षक गहने
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen + twenty =