अब बिजली बिल की नो टेंशन, सटीक ‘मीटर रीडिंग’ के लिये टाटा लाया ओसीआर

0
42

नयी दिल्ली । बिजली मीटरों की गड़बड़ी से जुड़ी खबरें हर दिन अखबार के पन्नों पर छपती हैं। अक्सर आप और हम भी मीटर की गलत रीडिंग के चलते नुकसान झेलते हैं। लेकिन अब आने वाले वक्त में आपको मीटर की गलत रीडिंग से निजात मिल सकती है। बिजली वितरण कंपनी टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रिब्यूशन लि. टीपीडीडीएल ने दिल्ली के अपने ग्राहकों को एकदम सटीक बिजली बिल उपलब्ध कराने के लिये कदम उठाया है। इसके तहत कंपनी मीटर रीडिंग के लिये ‘ऑप्टिकल कैरेक्‍टर रिकग्निशन’ (ओसीआर) का उपयोग करेगी।
कंपनी ने बयान में कहा कि इससे एक तरफ जहां ग्राहकों को सही बिजली बिल मिलेगा वहीं कंपनी का गैर-तकनीकी घाटा कम होगा। उसने अपने कार्य क्षेत्र उत्तरी और पश्चिमी दिल्ली में ग्राहकों के लिये कृत्रिम मेधा एआई) आधारित ‘ओसीआर’ प्रौद्योगिकी के उपयोग के लिये एनीलाइन के साथ भागीदारी की है। टाटा पावर डीडीएल के अनुसार इस भागीदारी के तहत तकनीक की पूरी जांच-परख के बाद उसे उत्तरी दिल्ली में संबंधित कर्मचारियों को उपलब्‍ध कराया गया है।
इस नये ‘स्कैनिंग’ समाधान को ‘मीटर रीडिंग’ के लिये कर्मचारियों के मोबाइल उपकरणों जोड़ा गया है। इससे ये कर्मचारी जब अपने मोबाइल कैमरों से बिजली मीटर को स्‍कैन करेंगे तो तत्‍काल मीटर रीडिंग का ब्योरा प्राप्त कर सकते हैं। इस मीटर रीडिंग ब्योरे का टाटा पावर-डीडीएल सत्यापन करेगी ताकि इस बात की पुष्टि की जा सके कि आंकड़ा और कैमरों में ली गयी मीटर की तस्वीर वास्‍तविक होने के साथ-साथ सटीक भी हैं।
कंपनी ने कहा कि यह कदम ‘मीटर रीडिंग’ की प्रक्रिया में होने वाली मानवीय गड़बड़ियों को दूर कर बिजली बिल को सटीक बनाएगा और इसे वितरण कंपनी के गैर-तकनीकी घाटे भी कम होंगे।
टाटा पावर डीडीएल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी गणेश श्रीनिवासन ने कहा, ”हम नवीनतम प्रौद्योगिकी अपनाकर उपभोक्‍ताओं के बेहतर सेवाएं देने को प्रतिबद्ध हैं इस नये समाधान से हम अपने उपभोक्‍ताओं के लिये बेहतर पेशकश करने के साथ-साथ इस्‍तेमाल की जाने वाली बिजली के बदले सटीक बिल सुनिश्चित कर सकते हैं।”

Previous articleबिहार का रिक्शावाला एप बनाकर दे रहा 50 प्रतिशत सस्ती कैब सर्विस
Next articleसितंबर में 13 दिन बंद रहेगा बैंकों में कामकाज
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 + 15 =