अब लीज पर दिया जायेगा दिल्ली का पहला पाँच सितारा होटल अशोक

0
69

25 एकड़ में फैला है, 550 कमरे हैं
नयी दिल्ली : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ढांचागत परियोजनाओं के वित्त पोषण के लिये पुरानी संपत्तियों को पट्टे पर देने या बेचने को लेकर राष्ट्रीय मौद्रिकरण पाइपलाइन (एनआईपी) की घोषणा की थी, इसके तहत अशोक होटल को 99 साल के लीज पर दिया जा सकता है
पंडित नेहरू ने बनवाया अशोक होटल
होटल अशोक साल 1956 में शुरू हुआ था। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र की चाणक्यपुरी में मौजूद अशोक होटल में 7 मंजिल और 550 कमरे हैं। अशोक होटल की खासियत यहां मौजूद बिना खम्भों के सबसे बड़ा कन्वेंशन हॉल है। होटल अशोक का निर्माण भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू द्वारा जम्मू-कश्मीर के राजकुमार कर्ण सिंह द्वारा सरकार को दान की गई 25 एकड़ की जमीन पार्कलैंड पर किया गया था। मशहूर आर्किटेक्ट ई बी डॉक्टर की अगुवाई में अशोक होटल का पूरा खाका तैयार हुआ था।
यूनेस्को की मेजबानी
अशोक की इमारत इंडो-मॉडर्निस्ट आर्किटेक्चर स्टाइल का प्रतीक है। अशोक होटल नई दिल्ली को नौवें यूनेस्को सम्मेलन के आयोजन के हिसाब से दुनिया भर के नेताओं और गणमान्य व्यक्तियों की मेजबानी के लिए बनाया गया था। अशोक होटल की स्थापना के वक्त इसके 23 शेयरहोल्डर्स में 15 रियासतों के शासक थे।
पंडित नेहरू के दिल के करीब
पीएम जवाहरलाल नेहरू अशोक होटल के निर्माण के काम को देखने के लिए घोड़े पर बैठकर आते थे। अशोक होटल परियोजना नेहरू के दिल के इतने करीब थी कि उन्होंने खुद परिसर में पेड़-पौधों को रोपने का काम देखा था। उसी समय होटल में आम का पहला पेड़ लगाया गया था। आज इसे ‘पिकल ट्री’ के नाम से जाना जाता है और इससे मिले फलों से होटल की जैम और मुरब्बे की जरूरतें पूरी हो जाती हैं।


अमिताभ की फिल्म शूट हुई
अमिताभ बच्चन की फिल्म लावारिस का एक सीन भी साल 1981 में अशोक होटल में शूट किया गया था। साल 2017 में अशोक होटल को बिल्डिंग ऑपरेशन और रखरखाव के लिए एलईईडी एलगोल्ड सर्टिफिकेट मिला था। 1970 के दशक में अशोक होटल ने नई दिल्ली में पहले नाइट क्लबों में से एक की मेजबानी की, जिसे सपर क्लब कहा जाता है। उषा उत्थुप , शेरोन प्रभाकर , हेमा मालिनी , उदय शंकर सभी ने स्टारडम हासिल करने से पहले कार्यक्रम स्थल पर प्रदर्शन किया।
कई बड़े आयोजनों का बना गवाह
साल 1968 में तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी ने अपने बेटे राजीव गांधी की सोनिया से शादी का जश्न मनाने के लिए अशोक होटल में एक बड़े भोज की मेजबानी की थी। 1980 के दशक में फिल्म अभिनेता शाहरुख खान अपने करियर के शुरुआती दिनों में अक्सर अशोक होटल जाते थे। साल 1989 में यश चोपड़ा की फिल्म चांदनी की शूटिंग भी अशोक होटल में हुई थी।
एनडीए नेताओं का भोज
अशोक होटल में करीब 1000 कर्मचारी काम करते हैं, जिसके संचालन में रोजाना करीब 35 लाख रुपये का खर्च आता है। भारत में साल 2019 के आम चुनाव के बाद सरकार बनाने से पहले प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने एनडीए गठबंधन के नेताओं के लिए अशोक होटल में अमित शाह की अध्यक्षता में एक रात्रिभोज की मेजबानी की थी।
अशोक होटल का प्रबंधन
अशोक होटल में फिदेल कास्त्रो, अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन का भी स्वागत हो चुका है। अशोक होटल में एयर इंडिया के स्टाफ के लिए 150 कमरे पहले से ही बुक रहते थे। पर्यटन मंत्रालय के अधीन आने वाला भारतीय पर्यटन विकास निगम लि. (आईटीडीसी) सार्वजनिक उपक्रम है, जो अशोक होटल को संभालता है। यह देश में विभिन्न स्थानों पर पर्यटकों के लिए होटल, रेस्तरां का परिचालन करने के साथ परिवहन सुविधाएं उपलब्ध कराता है।
सांसदों को भी अशोक का सुख
दिल्ली में सरकारी आवास मुहैया कराए जाने तक सांसदों को होटल में कमरे की सुविधा देने का प्रावधान था। पांच सितारा अशोक होटल में महीनों तक सांसद रहते थे। संसद में बड़ी संख्या में नए सदस्य आने और पुराने सांसदों की ओर से आवास खाली करने, घर की मरम्मत आदि में वक्त लगने की वजह से सांसद को पांच सितारा होटल अशोक में रहने की सुविधा मिलती थी।
अशोक को पट्टे पर देने की तैयारी
अशोक समूह के होटल आईटीडीसी के तहत प्रमुख होटल श्रृंखला हैं। अशोक होटल का ब्रांड मूल्य पिछले 40-50 वर्ष में विकसित हुआ है और विभिन्न मंत्रालयों तथा सार्वजनिक क्षेत्र की संस्थाओं द्वारा आयोजित सभी सरकारी कार्यक्रमों के लिए केंद्रीय मंच रहा है। मोदी सरकार की सोच है कि अशोक समूह के ब्रांड मूल्य का लाभ उठाया जा सकता है।
(साभार – नवभारत टाइम्स)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − 12 =