अमेरिका के नए राष्ट्रपति चुने गए जो बाइडेन

0
295

4 दिनों तक चली वोटों की गिनती के बाद अमेरिका को अपना 47वां राष्ट्रपति जो बाइडेन के तौर पर मिल गया है। 78 साल के बाइडेन ने राष्ट्रपति बनकर एक दिलचस्प रिकॉर्ड बनाया है। वह अमेरिका के सबसे युवा सिनेटर बने थे और अब सबसे बुजुर्ग राष्ट्रपति बन गए हैं। राष्ट्रपति चुनाव में बाइडेन को 290 इलेक्टोरल सीट हासिल हुआ है जबकि जीतने के लिए उन्हें 270 इलेक्टोरल सीट की जरूरत थी। दूसरी तरफ डोनाल्ड ट्रंप को सिर्फ 214 इलेक्टोरल सीट हासिल हुई थी।

चुनाव जीतने के बाद बाइडेन ने कहा, “मैं हर अमेरिकी नागरिक का राष्ट्रपति हूं, चाहे उन्होंने मुझे वोट किया हो या ना किया हो।” बाइडेन का राष्ट्रपति बनना भारत-अमेरिका संबंधों के लिए बेहतर होगा। जुलाई में बाइडेन ने फंड रेजिंग के दौरान कहा था कि भारत और अमेरिका नेचुरल पार्टनर हैं। उन्होंने कहा था, “हमारी सुरक्षा के लिए पार्टनरशिप..यानी एक स्ट्रैटेजिक पार्टनरशिप की जरूरत है।”

बाइडेन का सफर

बाइडेन का जन्म 1942 में एक कैथोलिक परिवार में हुआ था । जो बाइडेन ने यूनिवर्सिटी ऑफ डेलावेयर से पढ़ाई की और 1968 में साइराकुज यूनिवर्सिटी से लॉ की डिग्री हासिल की थी।  1972 में बाइडेन पहली बार सीनेटर चुने गए थे। वह स्टेट ऑफ डेलावेयर से 6 बार सीनेटर चुने गए हैं। 29 साल में बाइडेन को पहली बार अमेरिका का सीनेटर नियुक्त हुए थे। इसके बाद 1988 और 2008 में बाइडेन डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रेसिडेंट पद के कैंडिडेट तो बने लेकिन तीसरी बार में ही पार्टी ने उनका नाम राष्ट्रपति पद के लिए आगे बढ़ाया।

 

जिंदगी का मुश्किल सफर 

बाइडेन का पारिवारिक जीवन काफी मुश्किल भरा रहा है। 1972 में एक कार क्रैश में उनकी पत्नी नेलिया और उनकी 13 साल की बेटी नाओमी की मौत हो गई थी। इस हादसे में बाइडेन के दोनों बेटे ब्यू (Beau) और हंटर गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इसके बाद 1975 में बाइडेन जिल जैकब से मिले और जून 1977 में शादी की। उनसे 1981 में बाइडेन को एक बेटी-एश्ले-हुई। 2015 में ब्यू की 46 साल में ब्रेन ट्यूमर से मौत हो गई। ब्यू इराक वॉर में शामिल थे और डेलावेयर के अटर्नी जनरल थे। बाइडेन का दूसरा बेटा हंटर युवा अवस्था में ड्रग की लत से जूझ रहे थे।  बाइडेन की सेहत भी 1988 में काफी खराब हो गई थी। वह brain aneurysms से जूझ रहे थे। 2019 में उनकी पूर्व स्टाफ तारा रीडे ने उनपर सेक्सुअल हैरासमेंट का आरोप लगाया था। तारा का आरोप था कि 90 के दशक में बाइडेन के साथ काम करते हुए वह असहज थीं। वह 1993 में भी सेक्सुअल असॉल्ट का आरोप लगा चुकी है। लेकिन 2020 में बाइडेन और उनकी कैंपेन टीम ने इस आरोप का खंडन किया।

Previous articleबिहार चुनाव: राजग को पूर्ण बहुमत, एक बार फिर नीतीश सरकार
Next articleदिवाली की शुरुआत और धन्वन्तरी के आगमन का दिन है धनतेरस
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + sixteen =