अलीपुर चिड़ियाघर में जन्मे एनाकोंडा के 9 बच्चे

0
17
बबीता माली

ग्रीन एनाकोंडा लाने की तैयारी में चिड़ियाघर प्रबन्धन

कोलकाता: कोलकाता में अलीपुर चिड़ियाघर बहुत ही प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है। अगर कोई कोलकाता घूमने के लिए आते हैं तो वे एक बार इस चिड़ियाघर को देखने जरूर आते हैं। अलीपुर चिड़ियाघर कोलकाता के बीच में स्थित है और यहाँ पहुंचने के लिए किसी को भी कोई परेशानी नहीं होती है। अभी कोरोना महामारी चल रही हैं और उसके प्रकोप से अलीपुर चिड़ियाघर भी अछूता नहीं है।  कोरोना और लॉक डाउन के कारण मई महीने से ही फिर से अलीपुर चिड़ियाघर दर्शकों के लिए बंद है लेकिन इस लॉक डाउन में भी चिड़ियाघर में खुशियां आयी है। इस बार अलीपुर चिड़ियाघर में एनाकोंडा के 9 बच्चों ने जन्म लिया है। इन बच्चों के जन्म के साथ ही अलीपुर चिड़ियाघर में एनाकोंडा की संख्या 20 हो गई हैं। इसके कारण कोलकाता का अलीपुर चिड़ियाघर देश का दूसरा ऐसा चिड़ियाघर बन गया है जहाँ एक साथ इतने एनाकोंडा हैं।  ये सभी एनाकोंडा येलो एनाकोंडा हैं। इन बच्चों के जन्म से चिड़ियाघर प्रबंधन में ख़ुशी की लहर है।  शनिवार को इसकी खबर मीडिया को दी गई।  इसके बाद से ही अलीपुर चिड़ियाघर सुर्ख़ियों में आ गया है।

11 जुलाई को एनाकोंडा के दो जोड़े ने दिया बच्चों को जन्म 

इस मामले में अलीपुर चिड़ियाघर के निदेशक आशीष कुमार सामंत ने बताया , चिड़ियाघर में एनाकोंडा के 9 बच्चों ने जन्म लिया है जो बहुत ही ख़ुशी की बात है।  चिड़ियाघर में वर्ष 2019 में मद्रास के चिड़ियाघर से 4 एनाकोंडा मंगवाए गए थे।  पिछले वर्ष एनाकोंडा के 7 बच्चों ने जन्म लिया था।

इस बार मद्रास से लाये गए उन चार एनाकोंडा ने 11 जुलाई को 9 बच्चों को जन्म दिया। इन सभी बच्चों का वजन 100 – 150 ग्राम है (प्रति बच्चा) हैं।  इनकी लम्बाई करीब 8 फुट है।  चिड़ियाघर के निदेशक ने बताया , हमारे यहाँ एनाकोंडा के प्रजनन की सारी सुविधाएं हैं जिसके कारण ये एनाकोंडा तेजी से बच्चा पैदा कर पा रहे हैं।

सभी बच्चे स्वस्थ्य हैं। ये सभी येलो एनाकोंडा है।  येल्लो एनाकोंडा के इतने सारे बच्चों के इस चिड़ियाघर में होने से हमारा चिड़ियाघर दूसरे नंबर पर आ गया है।  उन्होंने बताया , मद्रास ज़ू में येलो एनाकोंडा की संख्या सबसे ज्यादा हैं।  अब हमारा चिड़ियाघर इस ज़ू के बाद देश का दूसरा चिड़ियाघर बन गया है जहाँ 20 येलो एनाकोंडा है।

उन्होंने बताया , इन बच्चों में कितने नर और मादा है , इसका पता नहीं चल पाया है।  इन्हें अभी छुआ नहीं गया हैं।  कुछ दिनों बाद बड़े होने पर इनकी जांच कर पता लगाया जायेगा कि इनमें कितने नर और कितना मादा एनाकोंडा हैं।  वहीं , अभी इन्हें बहार एनक्लोजर में नहीं रखा जायेगा।  लॉक डाउन हटने अपर जब चिड़ियाघर खुलेगा तब दर्शकों के लिए इन्हें बाहर एनक्लोजर में रखा जायेगा।

ग्रीन एनाकोंडा लाने की तैयारी में है अलीपुर चिड़ियाघर 

अलीपुर चिड़ियाघर के निदेशक आशीष कुमार सामंत ने बताया , जल्द ही हम ग्रीन एनाकोंडा लाने की योजना बना रहे हैं।  ग्रीन एनाकोंडा और येलो एनाकोंडा दोनों ही विदेशी प्राणी हैं।  ग्रीन एनाकोंडा , येलो एनाकोंडा की तुलना में ज्यादा एग्रेसिव होते हैं।

ग्रीन एनाकोंडा की लम्बाई 30 फुट होती हैं तो वहीं येलो एनाकोंडा की लम्बाई 20 – 22 फुट तक होती है। उन्होंने कहा , ग्रीन एनाकोंडा मैसूर और नंदन कानन में है।  अगर हम ग्रीन एनाकोंडा ले आते है तो हमारा चिड़ियाघर तीसरे नंबर पर होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − 8 =