आरबीसी सांध्य कॉलेज में मनाया गया हिन्दी दिवस

0
46

नैहाटी। ऋषि बंकिमचन्द्र चटर्जी की पावनभूमि पर अवस्थित ऋषि बंकिमचंद्र चटर्जी सांध्य महाविद्यालय के हिंदी विभाग की ओर से हिंदी दिवस के अवसर पर एक साहित्यिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन विभागीय कक्ष में किया गया।स्वागत वक्तव्य रखते हुए कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ देवाशीष भौमिक ने कहा कि हमें मातृभाषाओं को सम्मान के साथ उसे फलने-फूलने का अवसर भी देना चाहिए।हिंदी विभाग में सांस्कृतिक और साहित्यिक कार्यक्रमों की निरंतरता से बच्चों का विकास हो रहा है। विभागाध्यक्ष डॉ कलावती कुमारी ने कहा कि हिंदी विकास और हमारी प्रगति की भाषा है।मेरी मातृभाषा भोजपुरी होने के बावजूद मैंने हिंदी में पढ़ाई-लिखाई की क्योंकि हिंदी में रोजगार की असीम संभावनाएं हैं।हिंदी में सभी को साथ लेकर चलने की क्षमता है।बतौर अतिथि वक्ता विद्यासागर विश्वविद्यालय के डॉ संजय जायसवाल ने कहा कि हमें हिंदी को ज्ञान-विज्ञान, तकनीक, मनोरंजन, वैश्विक अर्थव्यवस्था के अनुकूल बनाने की जरूरत है ताकि हिंदी की शक्ति और स्वीकार्यता में वृद्धि हो।हिंदी तमाम भारतीय भाषाओं के बीच एक सांस्कृतिक पुल की तरह है। भारतीय भाषाओं के विकास में हिंदी की भूमिका सहयोगी की होनी चाहिए। सहायक शिक्षक उत्तम ठाकुर ने कहा कि हिंदी का चरित्र उदारवादी होने के साथ समावेशी भी है।हिंदी ने हमेशा से दूसरी भाषाओं को सम्मान दिया है। आज हिंदी में कई भाषाओं के शब्द प्रचलित हैं। इस अवसर पर आयोजित काव्य आवृत्ति प्रतियोगिता में प्रथम स्थान कुसुम भगत को, द्वितीय स्थान सौभिक कोइरी एवं विशेष पुरस्कार विश्वजीत साव एवं हिमांशु राय को मिला। आशुभाषण में नेहा कुमारी एवं सुमित गोस्वामी को पुरस्कृत किया गया।अंकिता, नेहा राय, अमित कुमार, राहुल कुमार एवं संतोष ने अपनी कविताएं प्रस्तुत की। विभाग के शिक्षक डॉ आनंद श्रीवास्तव ने दुष्यंत कुमार के गीत का गायन किया। कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ कलावती कुमारी एवं धन्यवाद ज्ञापन विभाग के वरिष्ठ शिक्षक जयप्रकाश साव ने दिया।

Previous articleकेओपीटी ने 30 वर्ष के लिए बढ़ाई लीज
Next articleडीवीसी के मुख्यालय में राजभाषा पखवाड़ा समारोह 2022
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × five =