इक्वेस्ट्रियन टेंट पेंगिग का विश्व कप क्वालीफार्यस आयोजित करेगा भारत

0
225

कोलकाता : इक्वेस्ट्रिंग स्पोर्ट्स के सहयोग से इक्वेट्रियन फेडरेशन ऑफ इंडिया 11 से 14 मार्च 2021 तक ग्रेटर नोएडा में होने वाले इक्वेस्ट्रियन टेंट पेगिंग के लिए विश्व कप क्वालीफायर का आयोजन कर रहा है। रूस, अमेरिका, बेलारूस, भारत, पाकिस्तान, सूडान और बहरीन सहित कुल सात देशों में एक दूसरे के साथ विश्व कप विजेता खिलाड़ी होंगे। इन सात टीमों में से, शीर्ष दो विश्व कप के लिए अर्हता प्राप्त करेंगे जो 2023 में दक्षिण अफ्रीका में होने जा रहा है।
विश्व कप क्वालिफायर द पेंटा ग्रैंड 2021 का एक हिस्सा होगा; जिसमें नेशनल इक्वेस्ट्रियन टेंट पेगिंग चैंपियनशिप, हॉफ मिलियन कप और नोएडा हॉर्स शो गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी स्पोर्ट्स स्टेडियम, ग्रेटर नोएडा में 03 से 14 मार्च, 2021 तक आयोजित किया जाएगा।
कुल 50 से अधिक अंतर्राष्ट्रीय राइडर्स, 250 से अधिक भारतीय राइडर्स और 300 से अधिक घोड़े द पेंटा ग्रैंड 2021 में भाग लेंगे। और दुनिया भर के कई प्रमुख गणमान्य व्यक्ति इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।
चैम्पियनशिप के आयोजक सचिव अहमद ने इस अवसर पर कहा, ‘हम भारत में पहली बार इक्वेस्ट्रियन टेंट पेगिंग के लिए आईटीपीएफ विश्व कप क्वालिफायर लाने के लिए रोमांचित हैं। ” भारत में भारतीय महाराजा और नवाब द्वारा खेल को लोकप्रिय बनाया गया था, लेकिन हाल के वर्षों में इसमें कमी आई है। ” लेकिन अब कुछ प्रमुख टीमों जैसे हरियाणा पुलिस, पंजाब पुलिस, 61 कैवलरी, पीबीजी, एएससी, आरवीसी, असम राइफल्स, बीएसएफ, आईटीबीपी, बिहार पुलिस, एएमयू राइडिंग क्लब आदि के लिए धन्यवाद, खेल बढ़ रहा है। इक्वेस्ट्रियन फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव कर्नल जयवीर सिंह ने कहा देश में पहली बार विश्व कप क्वालीफायर प्राप्त करना विशेष रूप से इन परीक्षण समय के दौरान एक कठिन काम था मगर इस आयोजन से देश का सम्मान बढ़ेगा। टेंट पेगिंग एक ऐसा खेल है जिसमें एक घुड़सवार पर सवार घुड़सवार सवार होता है और पिकअप में छेद करने के लिए तलवार या लांस का उपयोग करता है और टेंट खूंटी के एक छोटे से ग्राउंड टारगेट प्रतीकात्मक ले जाता है। टेंट पेगिंग को 1982 में ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया द्वारा एक आधिकारिक खेल के रूप में शामिल किया गया था और आज यह एक अंतर्राष्ट्रीय शेड्यूल गेम है।

Previous articleस्ट्राइड्स को ईबूप्रोफिन ओटीसी ओरल सस्पेंशन की यूएसएफडीए मंजूरी
Next articleप्रेम तथा समर्पण के माध्यम से भक्ति की जोत जलाने वाली सहजो बाई
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × one =