इस धनतेरस पर गोल्ड ईटीएफ है बढ़िया विकल्प

0
61

भारत में त्योहारी सीजन चल रहा है और कुछ ही दिनों में दिवाली आने वाली है। दिवाली के साथ ही धनतेरस भी आ रहा है। धनतेरस पर लोग दूसरी कीमती चीजों के साथ-साथ सोना भी खूब खरीदते हैं। भारत में महिलाएं इस मौके पर सोने के जेवर बहुत अधिक खरीदती हैं। सोने की ज्वेलरी के अलावा बहुत से लोग इसमें निवेश भी करते हैं। सोने को निवेश से लिहाज से एक बढ़िया विकल्प माना जाता है। सोना निवेश के लिए सुरक्षित भी है इसीलिए जब शेयर बाजार गिरता है तो निवेशक सोने का रुख करते हैं। यदि आप दिवाली के खास मौके पर सोने में निवेश करने की सोच रहे हैं तो आपके लिए गोल्ड ईटीएफ एक अच्छा विकल्प रहेगा। गोल्ड ईटीएफ की कई स्कीमों ने अच्छा रिटर्न दिया है। गोल्ड ईटीएफ में जम कर हो रहा निवेश गोल्ड ईटीएफ एक सुरक्षित जगह है। सेफ होने के चलते ही पहले की तुलना में अब ज्यादा लोग इस ऑप्शन में निवेश करने लगे हैं। एम्फी की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार जुलाई-सितंबर तिमाही में 2,426 करोड़ रुपये का निवेश किया गया है। आपको बता दें कि पिछले साल की समान अवधि में 172 करोड़ रुपये ही आए थे। निवेश के लिहाज से ये एक अच्छा मौका हो सकता है। ये होता है गोल्ड ईटीएफ एक्सपर्ट्स गोल्ड में निवेश को बहुत अच्छा तरीका मानते हैं। पर किसी भी निवेश के लिए ये जानना है जरूरी है कि आखिर गोल्ड ईटीएफ होता क्या है। गोल्ड ईटीएफ एक ओपन एंडेड म्यूचुअल फंड है, जो गोल्ड के मौजूदा रेट पर ही आधारित होता है। इसमें अतिरिक्त लागत बहुत कम होती है। बता दें कि गोल्ड ईटीएफ में 1 इकाई में 1 ग्राम सोना होता है। अगर आप गोल्ड ईटीएफ में निवेश (खरीदना और बेचना) करना चाहते हैं तो बीएसई-एनएसई पर ये बिल्कुल शेयर की तरह ही होता है। जैसे आप शेयर खरीदें और रेट बढ़ने पर बेच देते हैं। इसी तरह गोल्ड ईटीएफ में निवेश होता है। होता है प्योर गोल्ड गोल्ड ईटीएफ का एक अहम फायदा ये है कि इसमें सोने की क्वालिटी 100 फीसदी शुद्ध होती है। इसलिए आपको सोने की शुद्धता को लेकर कोई टेंशन नहीं होगी। दूसरी बात गोल्ड ईटीएफ में सोना फिजिकल फॉर्म में नहीं होता, इसलिए आपको इसे रखरखाव की जरूरत नहीं होगी। इसलिए सुरक्षा की भी चिंता नहीं होगी।
कैसे करें गोल्ड ईटीएफ में निवेश जिस तरह म्यूचुअल फंड में एसआईपी की तरह निवेश किया जाता है उसी तरह गोल्ड ईटीएफ में भी एसआईपी के जरिए ही निवेश किया जा सकता है। गोल्ड ईटीएफ में आपको लंबी अवधि में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। गोल्ड ईटीएफ में निवेश के लिए आपको डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी। एक बार डीमैट खाता खुलने पर आप ऑनलाइन ही गोल्ड ईटीएफ की यूनिट्स खरीद-बेच सकेंगे। मिल सकता है अच्छा मुनाफा बता दें कि जब कोरोना जैसा कोई संकट आता है तो सोने की कीमतों में तेजी से इजाफा होता है। असल में ऐसे समय पर निवेशक शेयर बाजार से निकल कर सोने का रुख करते हैं। एक्सपर्ट्स बताते हैं कि इस समय भी कोरोना संकट, इकोनॉमी में अस्थिरता और अमेरिकी चुनाव जैसे कारण हैं, जिनके चलते सोने के रेट ऊपर जा सकते हैं। यानी ये मुनाफा कमाने का अच्छा अवसर हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 + 16 =