उत्सव देता है संघर्ष की शक्ति-प्रतिभा सिंह

0
382

रंगारंग कार्यक्रम के साथ वीरांगना होली मिलन उत्सव सम्पन्न

टीटागढ़ : वीरांगना होली मिलन उत्सव गीत-संगीत के रंगारंग कार्यक्रमों के साथ मनाया गया। प्रतिभा सिंह, राकेश पांडेय, कुमार सुरजीत, अनिशा मुखर्जी, साईं मोहन ने अपने गीतों से लोगों को नाचने पर मबजूर कर दिया। एक ओर जहां भोजपुरी के पारम्परिक होली गीतों का लुत्फ लोगों ने उठाया वहीं फिल्मीं गीतों ने भी अच्छा समां बांधा। बांग्ला गीतों ने भी श्रोताओं को आकर्षित किया। कार्यक्रम का आयोजन अंतरराष्ट्रीय क्षत्रिय वीरांगना फ़ाउंडेशन की पश्चिम बंगाल प्रदेश इकाई की ओर से किया गया था। समारोह में प्रदेश अध्यक्ष प्रख्यात गायिका प्रतिभा सिंह ने कहा कि विपरीत परिस्थितियों में भी उत्सव मनाने की परम्परा भारतीय संस्कृति की संजीवनी शक्ति रही है। हर हाल में जीवन को उत्सवपूर्ण बनाये रखना जरूरी है। यह हम संघर्ष की प्रेरणा देता है। वीरांगना की प्रदेश इकाई की महासचिव प्रतिमा सिंह, उपाध्यक्ष रीता सिंह, कोषाध्यक्ष पूजा सिंह, संयुक्त महासचिव ममता सिंह व सुमन सिंह, सचिव पूनम सिंह व किरण सिंह उपस्थित थीं। महानगर की अध्यक्ष मीनू सिंह, महासचिव इंदु सिंह व पदाधिकारी सरोज सिंह, पूनम सिंह, सुनीता सिंह, बालीगंज की अध्यक्ष रीता सिंह, सोदपुर की अध्यक्ष सुनीता सिंह, महासचिव आशा सिंह, पदाधिकारी जयश्री सिंह, सुलेखा सिंह, बबिता सिंह, मंजू सिंह, मंजू सुधीर सिंह, नारी शक्ति वीरांगना की पदाधिकारी शकुंतला साव, अनीता साव, अलीशा मुखर्जी, पुष्पा सेठ, आभा ठाकुर आदि उपस्थित थे। इस अवसर पर वीरांगना के कलेंडर का भी लोकार्पण किया गया।

Previous articleअसमानता परम्परा तो हो नहीं सकती मगर साजिश जरूर लगती है
Next articleउल्लास
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − eight =