एसोचैम बना अंतर्राष्ट्रीय एक्सबीआरएल सम्मेलन 2021 का मेजबान

0
51

कोलकाता : एसोचैम ने हाल ही में “अंतर्राष्ट्रीय एक्सबीआरएल सम्मेलन 2021 – उभरते रुझान और अवसर” पर एक वेबिनार का आयोजन किया, जिसमें एक्सबीआरएल के आवेदन, उपयोगकर्ताओं और पेशेवरों को शिक्षित करने, इसके आवेदन को बढ़ावा देने और इसे संबोधित करने के लिए उभरते क्षेत्रों पर चर्चा और विचार-विमर्श किया गया। हितधारकों की समस्याएं और प्रश्न के समाधान पर चर्चा हुई।
वक्ता इस तथ्य पर सहमत हुए कि एक्सबीआरएल व्यावसायिक सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए विश्वसनीय वैश्विक ढांचा है जो व्यापार रिपोर्टिंग में आमतौर पर आवश्यक अर्थ अर्थ की अभिव्यक्ति की अनुमति देता है। यह व्यवसाय के प्रदर्शन की जवाबदेही और पारदर्शिता में सुधार करने में भी मदद करता है और सभी हितधारकों के लिए बहुत ही किफायती है । एक्सबीआरएल के लाभों पर प्रकाश डालते हुए कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय की उप महानिदेशक गीता सिंह राठौर ने कहा, ” एक्सबीआरएल विश्व स्तर पर व्यावसायिक सूचनाओं को संग्रहीत करने और प्रसारित करने के मानक तरीके के रूप में उभरा है। यह विभिन्न हितधारकों के लिए सटीकता, विश्वसनीयता, समयबद्धता और निर्णय उपयोगिता सुनिश्चित करता है। यह सूचना और डेटाबेस के विभिन्न उपयोगकर्ताओं के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर साबित हुआ है।
बीएसई लिमिटेड के मुख्य नियामक अधिकारी नीरज कुलश्रेष्ठ ने अंतर्राष्ट्रीय एक्सबीआरएल सम्मेलन 2021 के आयोजन के लिए एसोचैम को धन्यवाद दिया। एसोचैम के लेखा मानकों की टास्क फोर्स के अध्यक्ष और आईसीएआई के पूर्व सचिव डॉ. अशोक हल्दिया ने कहा कि भारत को एक राष्ट्रीय डेटा रिपोर्टिंग मानक की आवश्यकता है। नेक्सजेन के निदेशक सीए विनोद कश्यप ने कहा कि भारत को एक्सबीआरएल पर अंतरराष्ट्रीय सर्वोत्तम प्रथाओं को अपनाना चाहिए और एमसीए में दायर एक्सबीआरएल टैग किए गए डेटा की गुणवत्ता में बहुत आवश्यक सुधार लाने के लिए आवश्यक कदम उठाना चाहिए। इस कार्यक्रम में आईसीएआई के पूर्व अध्यक्ष और एक्सबीआरएल इंटरनेशनल के सदस्य सी ए अतुल कुमार के अतिरिक्त अन्य वक्ताओं ने विचार रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 8 =