औरंगाबाद का एथलीट दुबई आयरन मैन ट्रायथलॉन रेस पूरी करने वाला पहला दृष्टिहीन भारतीय बना

0
155

रेस को बिना आराम किए 8 घंटे में पूरा करना होता है
दुबई : महाराष्ट्र के औरंगाबाद के 38 साल के निकेत दलाल पहले ऐसे दृष्टिहीन भारतीय एथलीट बन गए हैं, जिन्होंने दुबई आयरन मैन ट्रायथलॉन पूरी की। इस रेस में 1.9 किमी तैराकी, 90 किमी की साइकिलिंग और 21.1 किमी की दौड़ लगानी होती है। निकेत दलाल ने 27 साल के अहराम शेख की मदद से इसे 7 घंटे 44 मिनट में बिना रेस्ट पूरा किया। दौड़ को बिना आराम किए 8 घंटे में पूरा करना होता है।
रेस के लिए दोनों एथलीट्स ने पुणे में एथलीट चैतन्या वेलहाल की अकादमी पॉवरपिक्स एथलीट लैब में चार महीने कड़ा अभ्यास किया था। इस तैयारी के दौरान उन्होंने अपनी स्किल्स को सुधारा और आपसी सामंजस बनाकर लक्ष्य को हासिल करने की तैयारी की। उन्होंने डिफरेंटली-एबल्ड एथलीट्स कैटेगरी में दूसरा स्थान हासिल किया। यह इनका पहला आयरन मैन ट्रायथलॉन प्रयास था।
100 प्रतिभागियों से था मुकाबला
कोच चैतन्या वेलहाल ने बताया, निकेत दलाल एक प्रोफेशनल स्पीच थैरेपिस्ट हैं, जबकि शेख ने पुणे से कम्प्यूटर साइंस में मास्टर डिग्री ली हुई है। दोनों एथलीट ने फील्ड में काफी काम किया है। रेस के पहले राउंड में खुले समुद्र में तैरना होता है। यहीं से चुनौती शुरू होती है। पहले राउंड में दोनों ने 100 प्रतिभागियों से मुकाबला करते हुए समय बचाया। दूसरे राउंड साइकिलिंग में शेख के अनुभव का लाभ मिला। पूरी प्रतियोगिता में दोनों का अनुभव काफी मजबूत रहा और आखिरकार समय के पहले फिनिश लाइन पार कर ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 − 7 =