कठिन समय में उम्मीद न छोड़ें, जरूरतमंदों की मदद करें

0
516

पायल वर्मा उद्यमी हैं, प्राणिक हीलिंग प्रोफेशनल और व्यक्तित्व निर्माण प्रशिक्षक हैं और फैशन की दुनिया से भी जुड़ी हैं। इसके साथ ही वे इन दिनों अपने सामाजिक कार्यों के कारण चर्चा में हैं। कोरोना काल के बीच जहाँ वे प्राणिक हीलिंग सिखाकर जहाँ लोगों का तनाव कम करने में लगी हैं, वहीं बेस्ट फ्रेंड्ज सोसायटी की ब्रांड अम्बास्डर के रूप में वे अम्फान पीड़ितों की मदद कर रही है। अभिनेत्री हैं, कोरियोग्राफर भी हैं। शुभजिता जीवन योद्धा के रूप में ओजस्विनी स्तम्भ में एनिग्मा की संस्थापक पायल वर्मा से बात की, पेश हैं बातचीत के प्रमुख अंश –

प्र. आप अपने बारे में जानकारी दें ?

उ. मेरा नाम पायल वर्मा है। एनिग्मा की संस्थापक हूँ, व्यक्तित्व प्रशिक्षण और प्राणिक हीलिंग सिखाया जाता है। विद्यार्थी मेडिटेशन यानी ध्यान करते हैं। थेरेपी और उपचार भी होता है। अभिनेत्री, कोरियोग्राफर हूँ। फैशन इंडस्ट्री के शोज में जाती हूँ। फिलहाल मैं बेस्ट फ्रेंड सोसायटी की ब्रांड अम्बास्डर हूँ जो समाज सेवा के काम से जुड़ा हुआ है।
प्र. कोविड – 19 के समय में काम करना कितना कठिन हुआ है, खासकर कामकाजी महिलाओं के लिए?
कोविड -19 का समय सबके लिए कठिन है पर महिलाएँ घर भी देखती हैं और कामकाजी महिलाएँ अपना काम भी देखती हैं। वर्क फ्रॉम होम रहने पर थोड़ा सन्तुलन बिगड़ता है। महिलाओं ने इसका सामना किया है। मुझे भी यह सन्तुलन बनाना पड़ा है।

प्र. सामाजिक कार्य या समाज के लिए कुछ करना कितना महत्वपूर्ण है ?
पेशेवर प्राणिक हीलर के रूप में समाज में जागरुकता लाने की कोशिश करती हूँ। अपनी खुशियाँ बाँटने का सन्देश देने की कोशिश करती हूँ। दूसरों के लिए कुछ करना अच्छा अनुभव है और आप देखेंगे कि इससे आपकी जिन्दगी और बेहतर होती है।

प्र. आप किस तरह से इस तरह के काम में लगी हैं ?
एन्गिमा के जरिए मैं तनाव दूर करने में लोगों की मदद करती हूँ। कोरोना के समय में लोगों का तनाव दूर करने में मदद कर रही हूँ। बेस्ट फ्रेंड सोसायटी की ब्रांड अम्बास्डर के रूप में फंड एकत्रित करने में मदद करती हूँ। अम्फान परियोजना से जुड़ी हूँ, इस संस्था के साथ हमने सुन्दरवन इलाके में जरूरतमंद लोगों को राहत पहुँचाने की कोशिश की है। सामाजिक कार्य, अनुदान, ध्यान सिखाना, मानसिक स्वास्थ्य के प्रति सचेत करना, यह कुछ छोटे – छोटे कार्य हैं जिनके जरिए मैं दूसरों की मदद करने की कोशिश करती हूँ।

प्र. कोविड – 19 में अनलॉ़क के बाद किस तरह से काम पर लौटा जाए कि सावधानी बनी रहे?आपकी योजना क्या है ?
अनलॉक की प्रक्रिया तो पूरे देश में आरम्भ हो चुकी है और कुछ सावधानी के बारे में सब जानते हैं। अनलॉक तो ठीक है पर कोरोना नहीं गया अब तक तो मैं तो यही कहूँगी कि जहाँ तक सम्भव हो, वर्क फ्रॉम होम करें…मैं खुद भी यही कर रही हूँ। अगर निकलना बहुत जरूरी हो तो पूरी सावधानी बरतें। दूरी बनाए रखना, मास्क पहनना, सैनेटाइटर रखना और घर आते ही नहा लेना, अपने मास्क को हर बार इस्तेमाल के बाद धोना न भूलें। बाहर जाना है तो जाइए मगर पूरी सावधानी के साथ।

प्र. आप क्या सन्देश देना चाहेंगी ?
हर अन्धेरे के बाद सबेरा होता है। आज हम सब एक ही स्थिति में फँसे हैं तो स्थिति जरूर बदलेगी।। उम्मीद मत छोड़िए, सावधानी बरतिए और आगे बढ़िए और अगर आप चाहें तो जरूरत पड़ने पर पेशेवर तरीके से मदद कर सकते हैं। अगर आप बेस्ट फ्रेंडज सोसायटी के जरिए जरूरतमंदों को मदद पहुँचाना चाहते हैं तो भी आप मुझसे सम्पर्क कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight − five =