कमाल के नडाल, मेदवेदेव को हराकर जीता 21वां ग्रैंड स्लैम खिताब

0
73

फेडरर और जोकोविच को छोड़ा पीछे
मेलबर्न । दुनिया के पूर्व नंबर एक खिलाड़ी रफेल नडाल (Rafael Nadal) ने रविवार को यहां दो सेट से पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी करते हुए दानिल मेदवेदेव (Daniil Medvedev) को हराकर ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीता और 21 पुरुष एकल ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने। स्पेन के 35 साल के नडाल ने इसके साथ ही पुरुष एकल में सर्वाधिक 21 ग्रैंडस्लैम खिताब के साथ रिकॉर्ड अपने नाम किया। नडाल और मेदवेदेव के बीच फाइनल मुकाबला सोमवार को शुरुआती घंटों (ऑस्ट्रेलिया के समय के अनुसार) में खत्म हुआ।
छठे वरीय नडाल ने पहले दो सेट गंवाने के बाद रूस के दूसरे वरीय मेदवेदेव को पांच घंटे और 24 मिनट चले मुकाबले में 2-6, 6-7 (5), 6-4, 6-4, 7-5 से हराया। पांचवें और निर्णायक सेट में नडाल 5-4 के स्कोर पर जब चैंपियनशिप जीतने के लिए सर्विस कर रहे थे तो मेदवेदेव ने उनकी सर्विस तोड़ दी। उन्होंने हालांकि अपनी अगली सर्विस पर ऐसी कोई गलती नहीं की। यह ऑस्ट्रेलियन ओपन का दूसरा सबसे अधिक समय चला फाइनल है। इससे पहले 2012 में सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने नडाल को पांच सेट चले मुकाबले में पांच घंटे और 53 मिनट में हराया था।
नडाल के नाम अब रोजर फेडरर और जोकोविच से एक अधिक ग्रैंडस्लैम खिताब दर्ज है। ऑस्ट्रेलियन ओपन से पहले इन तीनों के नाम समान रिकॉर्ड 20 ग्रैंडस्लैम खिताब थे। फाइनल के दौरान दूसरे सेट में कुछ देकर खेल रुका जब एक प्रदर्शनकारी कोर्ट पर उतर आया। नडाल इसके साथ ही चारों ग्रैंडस्लैम खिताब कम से कम दो बार जीतने वाले टेनिस इतिहास के सिर्फ चौथे पुरुष खिलाड़ी बने।
नडाल ने अपना पहला ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब 2009 में जीता था लेकिन मेलबर्न पार्क में उन्होंने चार फाइनल गंवाए। रविवार को स्पेन के इस खिलाड़ी ने अमेरिकी ओपन चैंपियन मेदवेदेव को हराकर अपना दूसरा ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता। नडाल ने 29 मेजर फाइनल में 21वीं जीत दर्ज की। फेडरर और जोकोविच ने समान 31 बार ग्रैंडस्लैम फाइनल में खेलते हुए समान 20 खिताब जीते हैं। नडाल की यह जीत इसलिए भी शानदार है क्योंकि वह 2021 के दूसरे हाफ में सिर्फ दो मैच खेलकर ऑस्ट्रेलिया पहुंचे थे। स्पेन का यह खिलाड़ी पैर की पुरानी चोट के कारण 2021 के दूसरे हाफ में अधिकांश समय नहीं खेल पाया। उनकी चोट का उपचार किया जा सकता है लेकिन यह पूरी तरह ठीक नहीं होगी। वह कोविड-19 से भी संक्रमित हुए थे।
मेदवेदेव पहला ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के बाद अगले की ग्रैंडस्लैम में खिताब जीतने वाला ओपन युग में पहला पुरुष खिलाड़ी बनने के लिए चुनौती पेश कर रहे थे। मेदवेदेव अब एंडी मरे के बाद सिर्फ दूसरे खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने अपना पहला ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने के बाद अगला ही ग्रैंडस्लैम में फाइनल मुकाबला गंवा दिया। यह सिर्फ चौथा मौका है जब नडाल ने दो सेट से पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए बेस्ट ऑफ फाइव सेट मुकाबला जीता है। उन्होंने पिछली बार यह कारनामा 2007 में विंबलडन के चौथे दौर में मिखाइल यूज्नी के खिलाफ किया था।

Previous articleपद्म सम्मान – सीडीएस रावत से कल्याण सिंह, नीरज चोपड़ा से सोनू निगम तक…कोई प्रचार से दूर कर रहा काम
Next articleघर में जब आएं अनजाने लोग, रखें ध्यान
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 1 =