कॉस्मेटिक्स बाजार में उतरेंगे रतन टाटा और मुकेश अंबानी

0
19

नयी दिल्ली । देश का प्रमुख औद्योगिक घराना टाटा ग्रुप एक बार फिर ब्यूटी और पर्सनल केयर बिजनस में उतरने की तैयारी कर रहा है। उसकी देशभर में 20 ब्यूटी टेक स्टोर खोलने की योजना है। इसके लिए टाटा ग्रुप विदेशी ब्रांड्स से बातचीत कर रहा है। रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। इस सेक्टर में टाटा का सीधा मुकाबला एलवीएमएच के ब्रांड सेफोरा और घरेलू कंपनी नायिका से होगा। देश में ब्यूटी और पर्सनल केयर मार्केट 16 अरब डॉलर का है और तेजी से बढ़ रहा है। मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज की भी देश में 400 से अधिक ब्यूटी स्टोर खोलने की योजना है। ऐसा पहला स्टोर अगले महीने मुंबई में खोला जा सकता है।
टाटा की नजर 18 से 45 साल के युवाओं पर है जो ईस्टी लॉडर के मैक और बॉबी ब्राउन जैसे महंगे ब्रांड्स को खरीद सकते हैं। कंपनी द ऑनेस्ट कम्पनी, इलिस ब्रुललिन और गैलिनी जैसी विदेशी कंपनियों से हाथ मिला सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक टाटा की दो दर्जन से अधिक कंपनियों से बात चल रही है जो उसके स्टोर्स के लिए खास उत्पाद मुहैया करवाएगी । टाटा के स्टोर्स में वर्चुअल मेकअप कियोस्क और डिजिटल स्किन टेस्ट का इस्तेमाल किया जाएगा और इसके आधार पर ग्राहकों को प्रीमियम ब्यूटी प्रॉडक्ट खरीदने के लिए ऑफर दिया जाएगा। हालांकि इस बारे में इन कम्पनियों ने कोई टिप्पणी नहीं की ।
कब खुलेगा पहला स्टोर
टाटा ने हाल में ब्यूटी शॉपिंग एप टाटा क्लिक पैलेट लॉन्च किया था। कंपनी पहले से ही रिटेल बिजनस में है। उसका जारा और स्टारबक्स जैसे ग्लोबल ब्रांड्स के साथ जॉइंट वेंचर है। रिपोर्ट के मुताबिक ब्यूटी स्टोर्स में 70 फीसदी प्रॉडक्ट्स स्किनकेयर और मेकअप का होगा। टाटा का पहले ब्यूटी स्टोर मार्च में खुल सकता है। भारत का ब्यूटी और पर्सनल केयर मार्केट 16 अरब डॉलर का है जो चीन (92 अरब डॉलर) की तुलना में बहुत छोटा है। लेकिन अगले कुछ साल में इसके सात फीसदी के एवरेज से बढ़ने की उम्मीद है। ब्यूटी रिटेलर नायका की देश में 300 स्टोर खोलने की तैयारी है। अभी उसके पूरे देश में 124 स्टोर हैं। यह कंपनी पिछले साल शेयर मार्केट में लिस्ट हुई थीं। तब इसका मार्केट कैप 14 अरब डॉलर पहुंच गया था।
कभी बोलती थी टाटा ग्रुप की तूती
कुछ दशक पहले तक ब्यूटी सेक्टर में टाटा ग्रुप की तूती बोलती थी। नोएल टाटा की मां सिमोन टाटा ने 1953 में लैक्मे ब्रांड की स्थापना में अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन टाटा ने 1998 में लैक्मे को यूनिलीवर पीएलसी की लोकल यूनिट को बेच दिया था। 2014 में कंपनी ने फिर से इस सेक्टर में एंट्री मारी थी लेकिन अब कंपनी इसे गंभीरता से ले रही है। टाटा ग्रुप की रिटेल स्टोर्स चलाने वाली कंपनी ट्रेंट लिमिटेड के नॉन एग्जीक्यूटिव चेयरमैन नोएल टाटा ने एक साक्षात्कार में कहा कि कंपनी को जोर फुटवियर और अंडरवियर के साथ-साथ सौंदर्य उत्पादों पर रहेगा। उन्होंने कहा कि रिटेल में इनमें विकास की संभावना है।

Previous articleबजट में पूंजी लाभ कर व्यवस्था में हो सकता है बदलाव
Next article108 साल पुराने हिंदुजा समूह का होगा बंटवारा!
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − 8 =