कोरोना का कहर, कोहराव और बचाव

0
114

शुभजिता फीचर डेस्क

पूरी दुनिया में कोराना का कहर है और इतनी मौतें हो चुकी हैं कि पूरी दुनिया में कोरोना का कोहराम मचा हुआ है। वायरस पहले चीन में फैला और अब इसकी चपेट में दुनिया का बड़ा हिस्सा है। न्यूयॉर्क तक में आपातकाल है…स्कूल बन्द हो चुके हैं..परीक्षाएँ टाली जा रही हैं….लोग भीड़ में जाने से बच रहे हैं।
कोरोनावायरस का असर सेहत पर तो हुआ ही है, बच्चों की पढ़ाई का भी नुकसान हो रहा है। इटली ने भी देशभर के स्कूलों में छुट्‌टी कर दी है। फ्रांस ने 120 स्कूल बंद किए हैं। यूनेस्को की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में 30 करोड़ बच्चे संक्रमण के डर से स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। इसके मुताबिक 14 देशों ने स्कूल पूरी तरह बंद कर दिए हैं। वहीं 9 देशों ने जरूरत के मुताबिक छुटि्टयां कर दी हैं। मुश्किल यहीं तक नहीं है…मुश्किल यह है कि लोग ठीक हो जाने के बाद फिर से संक्रमित हो रहे हैं। कोरोनावायरस के संक्रमण से ठीक होने के बाद भी लोग दोबारा से बीमार पड़ रहे हैं। वुहान के डॉक्टरों ने माना है कि कई मरीजों को दोबारा भर्ती करना पड़ा। दरअसल इन लोगों में वायरस के लक्षण फिर से दिखने लगे थे। वैज्ञानिकों के मुताबिक वायरस के एस टाइप के कारण संक्रमण तेजी से फैल रहा है। एस टाइप का कोरोनावायरस एल टाइप से ही पैदा हुआ है। वुहान में 7 जनवरी से पहले एल टाइप वायरस मौजूद था। बाद में यह एस टाइप में बदल गया, मामलों में अचानक तेजी आई।
ईरान की यात्रा करने वाले गाजियाबाद के एक व्यक्ति के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के साथ देश में संक्रमण के मामलों की संख्या 30 हो गयी है। बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने बृहस्पतिवार को राज्यों से जिला, प्रखंड और ग्राम स्तरों पर त्वरित कार्रवाई टीम बनाने को कहा है ।

कोरोना वायरस की तस्वीर

तेलंगाना को जरूर कुछ राहत मिली है क्योंकि राज्य के जिन दो लोगों के खून के नमूने पुणे स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) भेजे गए थे उनकी जांच रिपोर्ट नकारात्मक आई है।
गत बुधवार तक 16 इतालवी पर्यटकों सहित 29 लोगों के कोराना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। इस सूची में पिछले महीने केरल में सामने आए तीन मामले भी शामिल हैं। स्वास्थ्य में सुधार के बाद इन तीनों लोगों को छुट्टी दे दी गयी।
वायरस का असर भारत-यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन पर भी पड़ा है ।कोरोनावायरस की दहशत के बीच देहरादून में मास्क और सेनेटाइजर की किल्लत होने लगी है। कुछ दुकानदार इनकी कालाबाजारी में जुटे हुए हैं। इसे देखते हुए लोग अब इनकी ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं। ऑनलाइन खरीदारी पर पांच से 57 प्रतिशत की छूट भी मिल रही है।
फ्लिपकार्ट, एमेजन, स्नेपडील जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां मास्क और सेनेटाइजर न सिर्फ एमआरपी (अधिकतम खुदरा मूल्य) रेट पर दे रही हैं बल्कि भारी छूट भी दे रही हैं। बेहतर मास्कों में शामिल एन-95 बाजार में उपलब्ध नहीं है। लेकिन, ऑनलाइन यह उपलब्ध है। होली का बाजार और होली मिलन समारोहों पर कोरोना का असर पड़ा है।
कोरोना वायरस ने ना सिर्फ चीन, ईरान, इटली में दहशत फैलाई है बल्कि पूरी दुनिया इस भयानक वायरस से घबराई हुई है। भारत में अब तक कोरोना वायरस के 34 मामले सामने आ चुके हैं। हालही में तीन नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से दो केस लद्दाख और एक केस तमिलनाडु का बताया जा रहा है।कोरोना वायरस के कहर के बीच वैज्ञानिकों की कई टीमें पूरी दुनिया में इस नए वायरस पर रिसर्च करने में लगी है।
सामने आयी वायरस की तस्वीर
इस बीच चीन के वैज्ञानिकों की टीम को वायरस की असल संरचना की तस्वीर मिल गयी है। इस अपने आप में एक बड़ी कामयाबी माना जा रहा है। वैज्ञानिकों की एक टीम ने कोरोना वायरस की पहली तस्वीर जारी की है जिसमें उसका ‘असली रूप’ नजर आ रहा है। डेली मेल के मुताबिक वैज्ञानिकों ने वायरस को निष्क्रिय करने के बाद उसकी तस्वीर कैद की है। वैज्ञानिकों ने वायरस को इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप विश्लेषण तकनीक की मदद से ये कामयाबी हासिल की है। डेली मेल ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप विश्लेषण तकनीक के जरिए वायरस नमूने को सुरक्षित रखा गया है। यह अब तक का सबसे प्रामाणिक परिणाम है।

भारत सरकार द्वारा जारी निर्देश

भारतीय हवाई अड्डों पर भी बरती जा रही है सावधानी
कोरोना के असर को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे जनस्वास्थ्य आपातकाल माना है। इस समय 30 भारतीय हवाई अड्डों पर 6,49,452 यात्रियों की जाँच की जा चुकी है। थर्मल स्क्रीनिंग के बाद जिन यात्रियों में बुखार के आरम्भिक लक्षण दिखायी पड़े, उनकी जाँच की गयी। केन्द्रीय उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी के मुताबिक रोजाना 70 हजार यात्री भारत आते हैं। एयर इंडिया वुहान से अब तक 654 यात्रियों को ला चुका है। एयर इंडिया जापान के योकोहोमा के क्रूज शिप डायमंड प्रिंसेज से सीओवीआईडी -19 से 124 लोगों को वापस ला चुका है और इसमें 5 विदेशी भी शामिल हैं। भारतीय वायु सेना ने वुहान से 112 लोगों का उद्धार किया जिसमें से 35 नागरिक म्यानमार, बांग्लादेश, मालदीव्स, चीन, दक्षिण अफ्रीका, अमेरिका व अन्य देशों के नागरिक शामिल हैं। केन्द्रीय उड्डयन मंत्रालय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के साथ काम कर रहा है। हवाई अड्डों पर विशेष नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गयी है। सावधानी के लिए जागरुकता मूलक बोर्ड लगाये गये हैं। डीजीसीए द्वारा एयरलाइनों को निर्देश दिया गया है कि एन सी ओवी सैम्पल परीक्षण के लिए आईसीएमआर – एनआईवी पुने लैब में भेजे जायें।
सावधानी ही बचाव है
कोरोना से डर की बजाय आपको इंफेक्शन से बचने के लिए सावधानी रखने की आवश्यता है –
अपने हाथ बार-बार धोएं
अपने हाथों को साफ रखें।बार-बार धोने के लिए सैनेटाइजर और एंटी बैक्टीरियल साबुन का इस्तेमाल करें।इससे आपके हाथों में कीटाणुओं का नामो-निशान भी नहीं रहेगा।
बातचीत करते हुए दूरी रखें
यह बात कुछ अजीब लग सकती है लेकिन वायरस के खतरे को देखते हुए व्यावहारिक तौर पर इस  बात को ध्यान में रखना होगा।ऐसे में जिस व्यक्ति को खांसी या छींक आ रही हो, उससे कम से कम तीन फीट की दूरी रखें। इसका कारण यह है कि छींक या खांसते हुए मुंह से थूक निकलता है जिसमें कुछ वायरस हो सकते हैं।ऐसे में आपको पास रहने पर COVID-19 का खतरा हो सकता है।
अपनी आँखों, मुंह और नाक को छूने से बचें
हाथों को बार-बार आँख, मुंह, नाक पर न लगाएं।ऐसा करने से आपके हाथों से वायरस इन अंगों तक पहुंच सकते हैं।ऐसे में हाथ तो आप बार-बार धो सकते हैं लेकिन आंख, नाक, मुंह न धोने पर इनपर वायरस का खतरा बना रहेगा।
सांस लेते हुए साफ-सफाई रखें
आप जब भी खांसे या छींक मारें, अपने मुंह और नाक को टिश्यू से ढककर साफ करें और फिर इसे डस्टबिन में फेंक दें।

(इंटरनेट पर उपलब्ध विभिन्न खबरों व आलेखों पर आधारित)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 + 4 =