क्या है एनएफटी, जो लाखों में पहुँचा देता है ट्वीट और मीम्स की कीमत

0
146

नयी दिल्ली : पिछले कुछ दिनों से एनएफटी शब्द काफी चर्चा में है। एनएफटी यानी नॉन-फंजिबल टोकन। कुछ दिन पहले ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी का सबसे पहला ट्वीट एनएफटी के तौर पर नीलामी के लिए रखा गया, जिसकी बोली 24 लाख डॉलर लगी। इससे पहले 10 सेकंड की वीडियो क्लिप करीब 66 लाख डॉलर यानी करीब 48.44 करोड़ रुपये में बिकी। ऐसे ही क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज में काम करने वाले एक दम्पति ने शादी पर एक दूसरे को एनएफटी रिंग्स देने का फैसला किया। इन सब वाकयों से स्पष्ट है कि एनएफटी एक लोकप्रिय शब्द बन चुका है और लोगों के मन में इसे लेकर कई सवाल भी हैं।
आखिर क्या है एनएफटी?
एनएफटी का इस्तेमाल डिजिटल आर्ट और डिजिटली मौजूद चीजों के लिए हो रहा है। फंजिबल का अर्थ है कि दो चीजें आपस में इंटरचेंजेबल हैं, जैसे कि 100 रुपये के नोट। डिजिटल आर्ट भी अनलिमिटेड हो सकती हैं और एक डिजिटल आर्ट की कई कॉपी बनाई जा सकती हैं। लेकिन एनएफटी का इस्तेमाल कर एक आर्टिस्ट एक कॉपी को ओरिजिनल करार दे सकता है। यही वजह है कि बीपल नामक आर्टिस्ट के कोलाज ‘ एवरीडेज – द फर्स्ट 5000 डेज ’ की लाखों कॉपीज में से एक ओरिजिनल कॉपी एक नीलामी के दौरान 7 करोड़ डॉलर में बिकी। नॉन फंजिबल को यूनीक भी कह सकते हैं। NFT की मदद से बीपल ने अपने ओरिजनल आर्टवर्क को ओरिजनल साबित किया।

ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित
एनएफटीज, बिटकॉइन व अन्य क्रिप्टोकरेंसी की तरह ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित है। एनएफटीज यूनीक एसेट क्लास हैं, जिन्हें थर्ड पार्टी की मदद के बिना ऑनलाइन क्रिएट किया जा सकता है, रखा जा सकता है और ट्रेड किया जा सकता है। ब्लॉकचेन एक ऐसा डेटाबेस है, जहां जानकारी/सूचना ब्लॉक्स में स्टोर रहती है। ये ब्लॉक्स एक चेन के जरिए आपस में जुड़े रहते हैं। उदाहरण के लिए बिटक्वॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी डिसेंट्रलाइज्ड ब्लॉकचेन पर आधारित होती हैं। इसमें हर ट्रांजेक्शन रिकॉर्ड तो होता है लेकिन व्यक्ति डेटा को कंट्रोल नहीं कर सकता। जानकारी कई कंप्यूटर्स में सेव रहती है। इसके चलते डिटेल्स में बदलाव करना, हैक करना या सिस्टम के साथ धोखाधड़ी असंभव होती है। क्रिप्टोकरेंसी के जरिए होने वाला हर ट्रांजेक्शन अपने आप अपडेट हो जाता है।
एनएफटी आर्टवर्क में होती है यह खासियत
एनएफटी है तो कुछ साल पहले से लेकिन महामारी काल में एनएफटीज में दुनिया की रुचि जागी। जब आर्ट और एंटरटेनमेंट वेन्यू बंद थे, तो आर्टिस्ट व एंटरटेनर्स ने लोगों व खरीदारों से जुड़ने के नए रास्ते तलाशे। एनएफटीज डिजिटल सामान में कुछ गुण भर देती है, जिससे उनकी कीमत तय करना संभव होता है। उदाहरण के लिए जो कोलाज 7 करोड़ डॉलर में बिका, उसकी खासियत यह थी कि उसमें आर्टिस्ट के विशेष ब्लॉकचेन पर किए हुए सिग्नेचर की फाइल मौजूद थी। एनएफटीज वायरल मीम्स के क्रिएटर्स को उनके सिग्नेचर वाली कॉपी की बिक्री करने की इजाजत देती है। एनएफटी कोड की लाइन्स से ज्यादा कुछ नहीं है। ये ब्लॉकचेन पर इसे रजिस्टर कर आर्टवर्क की यूनीकनेस को स्थापित करते हैं।

(साभार – नवभारत टाइम्स)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − four =