खड़गपुर कॉलेज में मनाया गया हिन्दी दिवस

0
12

खड़गपुर। पश्चिम बंग हिंदी अकादमी, सूचना एवं संस्कृति विभाग, पश्चिम बंग सरकार द्वारा खड़गपुर कॉलेज ऑडिटोरियम में हिंदी दिवस समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हिन्दी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दामोदर मिश्र ने कहा कि भाषा जीवन, ज्ञान और साहित्य का पर्याय है। हिन्दी भाषा के विकासक्रम में भारतीय आर्य भाषा परिवार का ही विकसित रूप है। हिन्दी भाषा दिवस वास्तव में अपनी भाषा को मुक्कमल स्थान देना है। पश्चिमबंग हिंदी अकादमी के अध्यक्ष विवेक गुप्त ने अपने संदेश में हिंदी दिवस समारोह की सफलता की कामना करते हुए कहा कि पश्चिम बंग हिंदी अकादमी बंगाल के हिंदी भाषी प्रतिभागियों के लिए निरंतर साहित्यिक एवं सांस्कृतिक मंच प्रदान करने का ऐसा अवसर प्रदान करती रहेगी। इस अवसर पर उपस्थित थे खड़गपुर कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ विद्युत सामंत, जिला सूचना एवं संस्कृति अधिकारी वरुण मंडल, अकादमी के सदस्य मनोज यादव, आशीष जाना, रविशंकर पांडे, प्रभाकर पांडे, डॉ रेणु गुप्ता, प्रो.सीमा साह, डॉ संजय पासवान, डॉ प्रकाश अग्रवाल उपस्थित थे। बतौर निर्णायक डॉ पंकज साहा, डॉ श्रीकांत द्विवेदी, प्रो.राकेश चौबे, डॉ कार्तिक साव, विकास कुमार, सूर्यदेव राय, डॉ रणजीत सिन्हा, श्रीप्रकाश गुप्ता, राधेश्याम सिंह ने अपना सहयोग दिया। कालीचरण तिवारी, पंकज सिंह, नवीन मिश्रा, रमाशंकर सिंह ने लोकगीत प्रस्तुत किया और अभिषेक यादव एवं दल ने बैंड पर सहयोग दिया। काव्य आवृत्ति वर्ग क में प्रथम स्थान अंकिता द्विवेदी इग्नू, द्वितीय रुथ कर, राजा नरेन्द्र लाल खान वुमेन कॉलेज, तृतीय स्थान मोनू, विद्यासागर विश्वविद्यालय को वर्ग अ का प्रथम स्थान रौनक पांडे, द्वितीय स्थान सुनिधि चटर्जी, बी.एन.आर. एलेक्सी, तृतीय स्थान अंजिका साहा, ग्रिफिंश इंटरनेशनल को मिला। नाटक प्रतियोगिता में प्रथम स्थान राजा नरेन्द्र लाल खान महिला कॉलेज, द्वितीय स्थान ग्रिफिंश इंटरनेशनल एवं तृतीय स्थान विद्यासागर विश्वविद्यालय को मिला। हिंदी ज्ञान प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार अमृता महराजा, प्रीति सिंह और अंकिता दल को, द्वितीय पुरस्कार बिट्टू कौर, संजना और रक्षा कुमारी दल को और तृतीय पुरस्कार आकाश वर्मा, पूजा यादव और स्नेहा साव दल को मिला। कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ मंटू साव, डॉ विक्रम साव,उत्तम ठाकुर, पंकज सिंह ने किया। धन्यवाद ज्ञापन देते हुए अकादमी के सदस्य प्रो.संजय जायसवाल ने सभी प्रतिभागियों एवं तमाम साहित्य और संस्कृति प्रेमियों के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि यह आयोजन हिंदी भाषी विद्यार्थियों को सांस्कृतिक रूप से समृद्ध करने का प्रयास है।

Previous articleभारतीय भाषा परिषद सभागार में साहित्य टाइम्स देवी अवार्ड 22 संपन्न 
Next articleकेओपीटी ने 30 वर्ष के लिए बढ़ाई लीज
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − five =