ग्रामीण महिलाओं को तोहफा, मिलेगी 5000 रुपये की ओवरड्राफ्ट की सुविधा

0
125

नयी दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण महिलाओं को बड़ा तोहफा दिया है। नए साल के ठीक पहले पीएम मोदी ने ग्रामीण इलाके की महिलाओं को ₹5000 की ओवरड्राफ्ट सुविधा की सुविधा देने की घोषणा की है। केंद्र सरकार आजादी का अमृत महोत्सव मना रही है। इस कड़ी में ग्रामीण विकास मंत्रालय ने देश भर की महिलाओं के लिए एक बड़ी सौगात का ऐलान किया है। ग्रामीण इलाके की जो महिलाएं दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत सत्यापित महिला स्वयं सहायता समूह से जुड़ी हैं, उनके लिए यह सुविधा शुरू की जा रही है।
किसी आपात स्थिति में ग्रामीण महिलाओं को बैंक से ₹5000 की ओवरड्राफ्ट सुविधा मिल सकेगी। ओवरड्राफ्ट सुविधा का इस्तेमाल कर महिलाएं किसी भी समय अपने बैंक अकाउंट में मौजूद रकम से ₹5000 अधिक तक निकाल सकती हैं। आमतौर पर ऐसी सुविधाएं बैंक अपने बड़े ग्राहकों को देते हैं लेकिन अब गांव की महिलाओं को भी यह सुविधा मिलने से उन्हें जरूरत के वक्त पैसे लेने के लिए किसी और के सामने हाथ नहीं फैलाना पड़ेगा।
ग्रामीण विकास मंत्रालय के ग्रामीण विकास विभाग के सचिव नागेन्द्र नाथ सिन्हा ने 18 दिसंबर 2021 को दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत सत्यापित महिला स्वसहायता समूह सदस्याओं के लिये 5000 रुपये की ओवरड्राफ्ट सुविधा शुरू की है।
सरकारी बैंक और राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन इस कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे हैं। इस आयोजन में सभी बैंकों के मैनेजिंग डायरेक्टर, उप प्रबंध निदेशक, कार्यकारी निदेशक समेत मुख्य महाप्रबंधक भी शामिल हुए। इस कार्यक्रम में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशनों के अधिकारी भी शामिल थे।

केंद्र सरकार के बजट में हुई थी घोषणा
सत्यापित स्वसहायता सदस्यों को पांच हजार रुपये की ओवरड्राफ्ट सुविधा की अनुमति दिये जाने के विषय में वित्तमंत्री ने 2019-20 के अपने बजट भाषण में घोषणा की थी।उसके अनुसार ग्रामीण विकास मंत्रालय के अधीन दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) ने देश के ग्रामीण इलाकों में महिला स्वसहायता समूहों की सदस्याओं को ओवरड्राफ्ट सुविधा प्रदान करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इसका उद्देश्य इमरजेंसी में आने वाली जरूरतों को पूरा करने में मदद करना है। एक अनुमान के अनुसार दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 5 करोड़ महिला स्वसहायता समूहों से जुड़ी महिलाएं ओवरड्राफ्ट सुविधा की पात्र हो जायेंगी।

Previous articleशाकाहारी है या मांसाहारी – साफ-साफ खुलासा करें, : दिल्ली हाईकोर्ट
Next articleमहिला वनडे विश्व कप : भारत का पहला मैच छह मार्च को पाकिस्तान से
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 + 5 =