घर में जब आएं अनजाने लोग, रखें ध्यान

0
70

ऑनलाइन शॉपिंग का ट्रेंड बीते कुछ सालों से जोरों पर है, जिसे कोविड के कारण और बढ़ावा मिला है। ज्यादातर मध्यमवर्गीय घरों में भी राशन तक की भी ऑनलाइन खरीदारी होने लगी है। इस सुविधा से जिंदगी आसान तो हुई है, लेकिन महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंताएं भी बढ़ी हैं। इसकी वजह ये है कि समय-समय पर सामान देने आए व्यक्ति के हाथों असामाजिक गतिविधियों की खबरें सामने आई हैं। फैमिली काउंसलर शिवानी मिसरी साधू बता रही हैं, महिलाएं घर पर रहते हुए क्या सावधानी बरतें।
जब आप घर पर अकेली हों और डिलीवरी बॉय आए तो क्या करें?
दरवाजा खोलने के पहले जान लें कौन है – एंट्रेंस गेट पर अगर दो दरवाजे हैं, जिनमें से एक जाली है, तो जाली वाले दरवाजे को खोलने से पहले देख लें । अगर पेमेंट पहले ही कर दी गई है, तो डिलीवरी बॉय को सामान दरवाजे पर छोड़ जाने को कहें।
पार्सल लेने के लिए फोन लेकर जाएं – घर पर अकेले रहने के दौरान अगर आप कोई पार्सल रिसीव करने जा रही हैं, तो अपना फोन साथ लेकर जाएं। इसके अलावा कोशिश करें कि पार्सल लेने के दौरान आप घर के किसी सदस्य से दो मिनट के लिए कॉल पर जुड़ी रहें। जब तक डिलीवरी बॉय औपचारिकता पूरी कर रहा हो, तब तक फोन पर ऐसी बातें करें ‘अच्छा आ गए, नीचे हो, गाड़ी पार्क कर रहे हो, ठीक है आओ।’
ऐसा बर्ताव करें, जैसे घर के अंदर कोई है – जब भी पार्सल लेने बाहर आएं, सामने वाले को इस बात का एहसास करवाएं, जैसे घर के अंदर घर का कोई पुरुष सदस्य मौजूद है। दरवाजा खोलते हुए नाम लेकर पुकारें, ‘गैस बंद कर दो, नल बंद करना’ जैसी बातें कहकर सामान देने आए व्यक्ति को यह एहसास करवाए कि घर पर पुरुष मौजूद है।
घर पर कोई महिला है तो उसे बुला लें – जब दरवाजा खोलने जाएं और सामने एक अंजान शख्स खड़ा मिले, तो घर पर मौजूद महिला (मां, दीदी या भाभी) को आवाज देकर बुला लें। इससे व्यक्ति को यह मालूम रहेगा कि महिला घर पर अकेली नहीं है। वह कोई गलती नहीं करेगा।
सतर्क होकर फोन पर बात करें – किसी से फोन पर बात कर रही हों और तभी सामान देने वाला आ जाए, तो बात करते वक्त सावधानी बरतें। घर पर क्या है, कौन है और कौन नहीं, या अपनी कोई भी पर्सनल बात करने से बचें।
घर पर बच्चा अकेला है और तब पार्सल पहुंचे तो इन बातों का रखें ध्यान
आसपास जिन पर विश्वास करती हैं, उन्हें बता दें कि बच्चा अकेला है और कोई सामान देने आएगा।
बच्चे को समझा दें कि दरवाजे पर कोई आए तो, बिना पहचाने दरवाजा न खोलें।
हो सके तो बच्चे को डिलीवरी के चक्कर में न उलझा कर पड़ोसी को पार्सल ले लेने को कहें।
बच्चे को अगर नीचे डिलीवरी बॉय से सामान लेने भेज रही हैं, तो बॉलकनी से बच्चे पर नजर बनाए रहें।
घर में बच्चा अकेला है और सामान ले रहा है, तो उसे बताएं कि डिलीवरी बॉय से सामान बाहर रखकर जानें को कहे।

(साभार – दैनिक भास्कर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × three =