चॉकलेट से बनी गणपति की मूर्तियों से जरूरतमंदों में खुशियां बांट रहीं हैं निधि

0
250

इन्दौर : गणेश चतुर्थी पर ईको फ्रेंडली मूर्तियां बनाने वाले लोगों की तादाद हर साल बढ़ती जा रही है। इस काम में महिलाएं भी काफी आगे हैं। इंदौर की एक महिला ने इको फ्रेंडली गणेश की मूर्तियां बनाने के लिए चॉकलेट का इस्तेमाल किया है। उन्होंने अपनी थीम कोरोना वॉरियर्स रखी है। चॉकलेट के बाद अब वे दूध से गणेश भगवान की मूर्तियां बना रही हैं।

निधि अपनी मूर्तियों से कोरोना काल में लोगों की मदद कर रहे डॉक्टर्स और पुलिस को सम्मान देना चाहती हैं। निधि मानती हैं कि श्री गणेश के आशीर्वाद से ही कोरोना वायरस का प्रकोप खत्म होगा। उन्होंने कोरोना वायरस को दर्शाने के लिए चॉकलेट से बॉल भी बनाई है। निधि ने अपनी मूर्तियों के माध्यम से बताया है कि किस तरह श्री गणेश इस बॉल को अपने पैर से कुचल रहे हैं। निधि ने अपने मॉडल में चॉकलेट का इस्तेमाल कर ‘कोरोना गो’ लिखा है। वे कहती हैं मैं इस तरह के मूर्तियां अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के लिए बनाती हूँ। ये काम मैंने पिछले साल से ही शुरू किया है। इस साल मैंने दूध में चॉकलेट मिलाकर गणपति जी की मूर्तियां बनाई हैं। इन मूर्तियों को मैं जरूरतमंदों में बांटूंगी। निधि इन मूर्तियों के माध्यम से कोरोना वायरस के प्रति लोगों को जागरूक करना चाहती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 1 =