टाटा स्टील बीएसएल ने ओडिशा में स्थापित किया ‘यूवी ऑक्सिडेशन’ संयंत्र

0
18

भुवनेश्वर : टाटा स्टील बीएसएल लिमिटेड ने कोक अवन अपशिष्ट जल में साइनाइड के शोधन के लिए ओडिशा के ढेंकनाल जिले में अपने प्रतिष्ठान में इस्पात उद्योग में “दुनिया का पहला” अल्ट्रावाइलेट (यूवी) ऑक्सीकरण संयंत्र स्थापित किया है। साइनाइड एक घातक प्रदूषक है।
कंपनी ने एक विज्ञप्ति में कहा कि यूवी ऑक्सीकरण इकाई की स्थापना मूल कंपनी टाटा स्टील की अनुसंधान एवं विकास टीम के सहयोग से की गयी है। इस्पात कंपनी ने कहा कि कोक अवन अपशिष्ट जल में साइनाइड के शोधन की पारंपरिक विधि को ठोस गाद पृथक्करण प्रौद्योगिकी कहा जाता है। इसमें कहा गया कि यूवी ऑक्सीकरण प्रौद्योगिकी से नरेंद्रपुर संयंत्र में प्रति घंटे 80 घनमीटर अपशिष्ट जल के शोधन की क्षमता के साथ इस समस्या का समाधान करने में मदद मिलेगी। टाटा स्टील बीएसएल के मुख्य परिचालन अधिकारी सुबोध पांडे ने कहा, “साइनाइड से निपटने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक इसे ऑक्सीकरण द्वारा पूरी तरह से नष्ट करना है।” उन्होंने कहा कि यूवी ऑक्सीकरण संयंत्र से कंपनी को यह उद्देश्य हासिल करने में मदद मिलेगी। टाटा स्टील बीएसएल पूर्व में भूषण स्टील लिमिटेड के तौर पर जानी जाती थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen − 1 =