देश को मिला ‘बेंगलुरु मेढक’, पहली बार देश में शहर के नाम पर रखा मेढ़क का नाम

0
168

गड्‌ढा खोदने के लिए जाना जाता है यह भूरा मेढक
बंगलुरू : जमीन में गड्‌ढा खोदने वाले एक मेढक का नाम बेंगलुरु के नाम पर रखा गया है। इसे 2018 में खोजा गया था। यह पहली बार है जब देश किसी शहर के नाम पर मेढक का नाम रखा गया है। मेढक की इस नयी प्रजाति का नाम ‘स्फेरोथिका बेंगलुरु’ रखा गया है। इसे खोजने वाले माउंट कार्मल कॉलेज के प्रोफेसर दीपक पी. ने मेढक की तस्वीरें जुलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया में भेजी हैं। इस पर और रिसर्च की जानी है।
मेढक का नामकरण करने वाली वैज्ञानिकों की टीम का कहना है, मेढकों के रहने की प्राकृतिक जगह को दोबारा तैयार करने की जरूरत है। यह मेढक बेंगलुरु शहर के राजनकुंटे में एक बंजर जगह पर मिला था।
भारत में जल-जमीन पर रहने वाले जीवों की खोज बढ़ीं
मेढक पर हुई रिसर्च इंटरनेशनल जर्नल जूटॉक्सा में पब्लिश हुई है। रिसर्च कहती है, जमीन और पानी दोनों जगह रहने वाले ऐसे एम्फीबियन्स जीवों की खोज भारत में पिछले कुछ सालों में बढ़ी हैं। वर्तमान में मिली मेढक की नई प्रजाति जमीन में गड्‌ढे खोदने के लिए जानी जाती है।
जंगल के बाहर मिल सकती है यह प्रजाति
वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि मेढक की यह नई प्रजाति जंगलों के बाहर भी मिलेगी और खासतौर पर शहरों में इनकी संख्या ज्यादा हो सकती है। प्रो. दीपक कहते हैं, मेरा बचपन इसी शहर में गुजरा है और मैंने इसी शहर में अनोखे मेढक की खोज की, इससे मैं काफी खुश हूँ। प्रो. दीपक कहते हैं, इस प्रजाति को सुरक्षित रखना और इसके लिए रहने लायक जगह तैयार करना हमारे लिए बड़ी जिम्मेदारी है। हम देश में और नई प्रजातियां खोजने की कोशिश में जुटे हैं। देश के सबसे तेज विकसित होने वाले शहरों में नई प्रजाति खोजने की कोशिश कर रहे हैं। यह काफी चैलेंजिंग भी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 1 =