द हेरिटेज स्कूल ने पूरे किये शिक्षा क्षेत्र में सेवा के 20 वर्ष

0
33

कोलकाता : हेरिटेज स्कूल, कोलकाता शिक्षा के क्षेत्र में अपनी सेवा के 20 वर्ष पूरे कर लिये हैं। स्थापना दिवस पर स्कूल ने अपने 19वें वार्षिक पुरस्कार दिवस वितरण समारोह आयोजित किया। विक्रम ए साराभाई कम्युनिटी साइंस सेंटर के कार्यकारी निदेशक दिलीप सुरकर और द हार्ट एडवाइजर्स के पार्टनर तथा शिक्षाविद् शशांक वीरा शिक्षाविद् इस कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि थे। इस दिन चार नवोन्मेषी विषय स्कूल के पाठ्यक्रम में शामिल करने की घोषणा की गयी। ये मौजूदा पाठ्यक्रम में बनाने का दावा करने वाले ये प्रोग्राम नये शैक्षणिक सत्र में स्कूल द्वारा पेश किए जाएंगे। यह नये विषय विद्यार्थियों के भाषा ज्ञान को समृद्ध करेंगे। इसे ‘द आर्टिकुलेट एनसेम्बल’ नाम दिया गया है जो अंग्रेजी भाषा के अध्ययन की बुनियाद को मजबूत करेगा। इसके साथ ही एक ई विज्ञान पत्रिका ‘एनिग्मा – एक ई-साइंस पत्रिका’ शुरू की गयी जिसमें मानव जाति को चकित करने वाले चुनिंदा सिद्धांत और खोजें शामिल हैं। ‘संस्कारन’, जिसमें स्कूल से जुड़ी स्मृतियाँ होंगी। संवेदना एक मनेवैज्ञानिक परामर्श से जुड़ा विषय है जो विशेष रूप से बालिकाओं को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। ‘संवेदना’ एक पहल है जो 2010 में संयुक्त राष्ट्र फाउंडेशन द्वारा प्रत्येक बालिका का समर्थन करने के लिए शुरू की गयी थी।
कार्यक्रम के दौरान दिलीप सुरकर ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी के कुछ जादुई आविष्कारों से जुड़ी जानकारी साझा की और शिक्षकों से विज्ञान से संबंधित अधिक कार्यक्रम और कार्यक्रम आयोजित करने का अनुरोध किया ताकि छात्रों को विज्ञान और प्रौद्योगिकी में कॅरियर बनाने के लिए पर्याप्त प्रेरणा मिले। शशांक वीरा ने स्कूली शिक्षा में कुछ नवीनतम शैक्षिक नवाचारों को साझा किया जो भविष्य में अनुभवात्मक शिक्षा की गहराई को बढ़ाने के लिए आ रहे हैं। वर्तमान कोविड -19 महामारी ने छात्रों को घर की चार दीवारों के भीतर बना दिया था और इन नवाचारों से स्कूलों को खुद को फिर से खोजने में मदद मिलेगी ताकि वे छात्रों के साथ जुड़ाव को बनाए रख सकें और उन्हें और मजबूत कर सकें।
इस वर्चुअल कार्यक्रम में दे हेरिटेज स्कूल की प्रबन्धन कमेटी के अध्यक्ष विक्रम स्वरूप ने स्कूल की स्थापना के बाद के कुछ यादगार पलों को याद किया। हेरिटेज ग्रुप ऑफ इन्टीट्यूशंस के चेयरमैन एच.के.चौधरी, चेयरमैन ने स्कूल शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा और उससे आगे तक समूह के विजन के बारे में बताया। स्कूल के अन्य ट्रस्टी सदस्यों ने भी शिक्षकों, छात्रों, अभिभावकों और कर्मचारियों को इस महत्वपूर्ण अवसर का जश्न मनाने के लिए एक विशेष स्कूल’ बनाने के प्रयासों के लिए बधाई दी। छात्रों ने वर्चुअल पुरस्कार वितरण समारोह का भी अनुभव किया जिसका वे लंबे समय से इंतजार कर रहे थे। द हेरिटेज स्कूल की प्रिंसिपल सीमा सप्रू ने कहा, “हेरिटेज स्कूल मौजूदा पाठ्यक्रम को और गुणवत्तापरक बनाते हुए नये विषय ला रहा है। यह अलग – अलग क्षेत्रों में विद्यार्थियों के लिए स्कूली शिक्षा को उत्कृष्ट बनाने में मदद करेंगे। हेरिटेज ग्रुप ऑफ इन्स्टीट्यूशंस के सीईओ पी के अग्रवाल ने इस अवसर पर सबको बधाई दी। कार्यक्रम में द हेरिटेज स्कूल की हेडमिस्ट्रेस रूना चटर्जी, तथा द हेरिटेज स्कूल के हेडमास्टर डेरिल क्रिस्टोफर क्रिस्टेंसन समेत स्कूल के माता-पिता और शिक्षकों ने भी विचार रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × five =