पत्नी के मंगल के लिए मंगलसूत्र पहनते हैं पुणे के शार्दुल

0
22

पुणे : पुणे के शार्दुल कदम ने सालभर पहले शादी के मंडप में ही पत्नी के हाथों ‘मंगलसूत्र’ बंधवाया था। उन्होंने इसकी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर डाली, जिसके बाद ट्रोलर्स ने उनका जमकर मजाक उड़ाया। शारदुल को साड़ी पहनने से लेकर सिंदूर लगाने तक की नसीहत दी गई। कई लोगों ने कहा कि तुम्हें तो पीरियड्स भी आते होंगे। एक साल बाद अब शादी की तैयारी कर रहे लड़के पूछते हैं कि उन्होंने मंगलसूत्र कहां से डिजाइन करवाया।
इसलिए मंगलसूत्र पहनते हैं शार्दुल
पुणे के शारदुल कदम बताते हैं कि वे मंगलसूत्र इसलिए पहनते हैं क्योंकि उनके लिए ये प्यार की निशानी है। लोग मंगलसूत्र को महिलाओं का गहना मानते हैं, इसे रस्म और रिवाजों से जोड़ देते हैं, जबकि इसके पीछे का अर्थ कम ही लोगों को पता है। मंगलसूत्र दो शब्दों में बंटा है, ‘मंगल’ मतलब शुभ और ‘सूत्र’ मतलब पवित्र धागा। मंगलसूत्र का असल मतलब है वो पवित्र धागा जो दो आत्माओं को जीवनभर एक साथ बांधे रखता है। इसे कहीं भी महिलाओं से नहीं जोड़ा गया है, फिर भला मंगलसूत्र सिर्फ महिलाएं ही क्यों पहने? मंगलसूत्र से जुड़े इमोशन से शारदुल इतने प्रभावित थे कि प्यार जताने के लिए उन्होंने शादी के दिन पत्नी के हाथों मंगलसूत्र पहना।
एंगेजमेंट रिंग की तरह आदान – प्रदान किए मंगलसूत्र
शारदुल कहते हैं कि जब पार्टनर्स एक-दूसरे को एंगेजमेंट रिंग पहनाते हैं तब कोई ये सवाल नहीं करता कि रिंग तो महिलाओं का गहना है, पुरुष इसे क्यों पहन रहे हैं। रिंग को प्यार की निशानी मानकर दोनों पार्टनर एक-दूसरे को राजी-खुशी इसे पहनाते हैं। हमने भी इसी तरह एक-दूसरे को प्यार की निशानी दी है, बस हमारा तरीका थोड़ा अलग रहा। शार्दुल बताते हैं कि उनका पैतृक गांव पुणे से 30 किलोमीटर दूर है। वे महाराष्ट्र के ही रहने वाले हैं और मराठी विवाह में मंगलसूत्र को बहुत अहम माना जाता है। यही वजह है कि उन्होंने शादी के मंडप पर पत्नी के साथ मंगलसूत्र एक्सचेंज किया। ये पल शारदुल और उनकी पत्नी तनुजा के लिए काफी खास था।
डिजाइनर को खास ऑर्डर देकर बनवाया मंगलसूत्र
शारदुल को अपने लिए मंगलसूत्र चुनने में काफी मेहनत करनी पड़ी। वे बताते हैं कि उन्होंने एक महिला फैशन डिजाइनर से खास मंगलसूत्र डिजाइन करवाया, जिसमें काले मोती वाली दो मालाएं पेंडेंट से जुड़ी हैं। इसे तैयार करने में डिजाइनर को 20 दिन लगे थे।
वे शान से मंगलसूत्र पहनकर दफ्तर जाते हैं
कम्युनिकेशन कंसलटेंट शार्दुल का कहना है कि शादी के कुछ दिन तक तो उन्हें सोशल मीडिया पर काफी ट्रोलिंग झेलनी पड़ी थी। इसके बाद जब वो दफ्तर पहुंचे तो उन्हें लगा कि शायद दफ्तर में भी लोग उन्हें जज करने वाली निगाहों से देखेंगे, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। सहकर्मी आकर ये जरूर पूछते कि आपने मंगलसूत्र क्यों पहना है। वजह जानकर सब खुश हो जाते हैं। वे शादी के कुछ दिनों तक बड़ा मंगलसूत्र पहनकर ही दफ्तर जाते रहे। इसके बाद रोजाना के लिए उन्होंने मंगलसूत्र हैंड ब्रेसलेट तैयार करवाया। अब शार्दुल खास मौकों पर ही बड़ा मंगलसूत्र पहनते हैं, ठीक उसी तरह जैसे उनकी पत्नी पहनती हैं।

इंस्टाग्राम पर पुरुष पूछते हैं डिजाइनर का नाम
शार्दुल बताते हैं कि शादी कि शुरुआत में उन्हें इतनी ज्यादा ट्रोलिंग झेलनी पड़ी थी कि वो कुछ समय के लिए परेशान हो गए थे। लोग भद्दे-भद्दे कमेंट करते थे। उनकी शादी का मजाक बनाया जाता था। उनका इंस्टाग्राम और बाकी सोशल मीडिया अकाउंट के चैट बॉक्स इसी तरह के मैसेज से भरे होते थे, जिसकी वजह से उन्होंने सोशल मीडिया चलाना ही बंद कर दिया था, लेकिन कुछ दिन बाद कई लड़कों ने उनसे मंगलसूत्र के डिजाइनर का नाम पूछा और इसमें दिलचस्पी दिखाई।
पत्नी से भी बड़ा मंगलसूत्र पहनकर घर से निकलते हैं
शार्दुल की कहानी में एक दिलचस्प बात ये निकलकर आई कि उनका मंगलसूत्र उनकी पत्नी के मंगलसूत्र से भी ज्यादा बड़ा है। वो बताते हैं कि जब भी दोनों साथ में घर के किसी फंक्शन में जाते हैं तो लोग पहले हैरान निगाहों से शार्दुल के मंगलसूत्र को देखते हैं। कुछ लोग ये भी टोक देते हैं कि अरे तुम्हारा मंगलसूत्र तो पत्नी से भी बड़ा है! ऐसा उनके साथ अक्सर होता है, लेकिन शारदुल को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। वो पूरे आत्मविश्वास के साथ मंगलसूत्र पहनते हैं।
त्योहार पर पति-पत्नी एक-दूसरे को पहनाते हैं मंगलसूत्र
शार्दुल ने बताया कि जब भी कोई त्योहार या खास मौका होता है, दोनों तैयार होने के बाद हमेशा एक-दूसरे को मंगलसूत्र पहनाते हैं। ये पल उनके लिए बहुत खास होता है, क्योंकि ये उन्हें शादी के दिन की याद दिलाता है।
(साभार – दैनिक भास्कर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × two =