पर्यावरण संरक्षण : हिन्दुस्तान जिंक को मिली सीडीपी ‘ए’ की मान्यता

0
66

कोलकाता : विश्व के अग्रणी जिंक निर्माता हिन्दुस्तान जिंक (एचजेडएल) एक वैश्विक संस्था की ओर से पर्यावरण संरक्षण रे लिए मान्यता मिली है। हिन्दुस्तान जिंक को उत्सर्जन तथा जलवायु सम्बन्धी जोखिमों को कम करने के साथ न्यूनतम कार्बन वाली अर्थव्यवस्था को विकसित करने के लिए पहचान प्राप्त हुई और अब एचजेडएल उच्च स्चर का प्रदर्शन करने वाली चन्द कम्पनियों में शामिल है। हिन्दुस्तान जिंक के सीईओ अरुण मिश्रा ने सीडीपी की ए सूची में शामिल होने हिन्दुस्तान जिंक की प्रतिबद्धता और निरन्तर किये जाने वाले प्रयासों की स्वीकृति बताया। डॉ. जोन्स सस्टेनिबिलिटी इन्डेक्स में एचजेडएल को भार में टिकाऊ खनन के लिए हिन्दुस्तान जिंक को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। दायित्वपूर्ण खनन कार्य संचालन का केन्द्र है और सीडीपी ‘ए’ लिस्ट में शामिल होना इस दिशा में मील का पत्थर होगा। सीडीपी के सीईओ पॉल सिम्पसन ने भी हिन्दुस्तान जिंक की इस उपलब्धि को सराहा। सीडीपी की वार्षिक पर्यावरणीय प्रकटीकरण और स्कोरिंग प्रक्रिया को व्यापक रूप से कॉर्पोरेट पर्यावरण पारदर्शिता के स्वर्ण मानक के रूप में मान्यता प्राप्त है। 2020 में, 515 से अधिक निवेशकों के साथ यूएस $ 106 ट्रिलियन से अधिक संपत्ति और 150+ प्रमुख खरीदारों के साथ यूएस $ 4 ट्रिलियन की खरीद में सीडीपीपी के मंच के माध्यम से पर्यावरणीय प्रभावों, जोखिमों और अवसरों पर डेटा का खुलासा करने के लिए कंपनियों से अनुरोध किया। 9,600 से अधिक ने जवाब दिया – अब तक का सबसे अधिक।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen + 17 =