फाल्गुनी नायर : 50 की उम्र में छोड़ा 25 साल का कॅरियर, बैंकर जो बनी सफल उद्यमी

0
25

देश में फैशन, ब्यूटी प्रोडक्ट की शीर्ष ई-कॉमर्स कंपनी ‘नायका’ अब दलाल स्ट्रीट का रुख कर रही है। कंपनी ने गुरुवार को अपना आईपीओ लॉन्च किया है। यह वर्ष 2021 का तीसरा सबसे बड़ा आईपीओ है। इससे पहले जोमैटो और सोना कॉमस्टार ने बड़े आईपीओ जारी किए थे।
नायका की पैरंट कंपनी एस एन ई कॉमर्स वेंचर्स की शुरुआत इन्वेस्टमेंट बैंकर रहीं फाल्गुनी नायर ने 2012 में थी। फाल्गुनी नायर ने कुछ ही वर्षों में इसे देश की शीर्ष ब्यूटी प्रोडक्ट्स से जुड़ी ई-कॉमर्स कंपनी बना दिया। इनकी तुलना उद्यमी किरण मजूमदार शॉ से की जाती है।

फल्गुनी नायर का सफर
फाल्गुनी का जन्म 1963 में मुंबई में हुआ और वहीं पली-बढ़ी हैं। पिता व्यवसाय करते थे और माँ उनका सहयोग किया करती थीं। व्यवसाय के गुर इन्हें विरासत में मिले हैं। इन्होंने मुंबई स्थित सिडेनहैम कॉलेज ऑफ कॉर्मस एंड इकोनॉमिक्स से ग्रेजुएशन किया है। फिर इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट अहमदाबाद से मास्टर्स की डिग्री ली।

कोटक महिंद्रा में लंबे समय तक की नौकरी

पढ़ाई पूरी करने के बाद साल 1985 में एक मैनेजमेंट कंसलटेंसी कंपनी में बतौर कंस्लटेंट जुड़ीं। आठ साल बाद कोटक महिंद्रा से जुड़ीं और वहां 19 साल अलग-अलग पदों पर काम करती रहीं। साल 2005 में प्रबन्ध निदेशक बनीं और जब 2012 में इस्तीफा देते समय इसी पद पर थीं।

50 की उम्र में छोड़ा 25 साल लंबा कॅरियर, लिया जोखिम
फाल्गुनी फाइनेंस की दुनिया में काम करती थीं। 25 साल का लंबा कॅरियर था। लेकिन एक दिन अपने सपने को पूरा करने के लिए जमा-जमाया करियर छोड़ दिया, और 2012 में शुरू की ब्यूटी प्रोडक्ट से जुड़ी वेबसाइट नायका डॉट कॉम। दो साल पूरा होने के पहले ही ये देश की नबंर वन वेबसाइट बन गयी। आज इस वेबसाइट पर ब्यूटी प्रोडक्ट के अलावा कपड़े आदि भी मिलने लगे हैं। इस वेबसाइट पर 2500 से ज्यादा ब्रांड मौजूद हैं।
इन फंडों को अपना कर बनीं बिलेनियर
फाल्गुनी का कहना है कि एंटरप्रयोनर्स को एकदम सीधी स्ट्रैटजी बनानी चाहिए। यह क्लियर होना चाहिए कि आप अपने व्यवसाय से क्या चाहते हैं। कई बार काम सिर्फ पैसा कमाने के लिए नहीं बल्कि लंबे समय में आपके काम का असर नजर आता है। फाल्गुनी कहती हैं कि बाजार में जमने के लिए सबसे पहले अपने क्लाइंट को समझने की जरूरत है। इससे आपको ग्राहकों तक ऑनलाइन डिलीवरी करने में मदद मिलेगी।
फाल्गुनी जोखिम लेने पर भी जोर देती हैं। यही वजह से कि उन्होंने अपने सपने को पूरा करने के लिए बैंकर की अच्छी भली नौकरी छोड़ दी। उनका कहना है कि महिलाओं को खासकर बिजनेस में रिस्क लेने की जरूरत है।
व्यवसाय में कामयाबी हासिल करने के लिए पूरा मन लगाकर काम करें। फाल्गुनी खुद क्लाइंट के ऑर्डर पर नजर रखती हैं। चुनौती लें और व्यक्तिगत स्तर पर काम में जुट जाएं।
(साभार – दैनिक भास्कर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 − 4 =