बजरंग पूनिया विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में चार पदक जीतने वाले पहले भारतीय

0
21

बेलग्रेड । बेलग्रेड में जारी विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने कांस्य मेडल जीतकर इतिहास रच दिया। बजरंग भारत के इकलौते पहलवान हैं जिन्होंने विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में चार मेडल जीतने का कारनामा किया है। इससे पहले बजरंग ने 2013 में ब्रॉन्ज, 2018 में सिल्वर और 2019 में फिर से कांस्य जीता था। विश्व कुश्ती चैंपियनशिप के इस सत्र में बजरंग ने 65 किलोग्राम भारवर्ग में पुएर्टो रिको के सेबस्टियन रिवेरा को 11-9 से हराया।
बजरंग पूनिया पिछले कुछ सालों में लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने इससे पहले तोक्यो ओलिंपिक कांस्य और 2022 कॉमनवेल्थ गेम्स स्वर्ण जीता था। वहीं वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप उन्होंने भारत को दूसरा पदक दिलाया है। बजरंग के अलावा महिला पहलवान विनेश फोगाट ने चैंपियनशिप में कांस्य पदक अपने नाम किया है।
वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप के शुरुआती मुकाबले में बजरंग पिछड़ गए थे लेकिन उन्हें रेपचेज में कांस्य पदक जीतने का एक मौका मिला। उन्होंने रेपचेज के पहले मैच आर्मेनिया के पहलवान वेजगेन तेवान्यान को कड़े मुकाबले में हराया। इससे पहले बजरंग अपने शुरुआती मैच में ही चोटिल हो गए थे। उन्हें सर में चोट लगी थी लेकिन बावजूद इसके वह प्रतियोगिता में बने रहने का फैसला किया था।
चोट के कारण उनके प्रदर्शन पर भी असर देखने को मिला। विश्व कुश्ती चैंपियनशिप के ब्रॉन्ज मेडल के प्लेऑफ मैच में 6-0 से पीछे चल रहे थे लेकिन इसके बाद उन्होंने वापसी करते हुए 11-9 से जीत हासिल की।
बजरंग के अलावा विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारत के कई अन्य महिला और पुरुष पहलवान भाग ले रहे हैं। भारत ने इस चैंपियनशिप के लिए ग्रीको-रोमन, फ्रीस्टाइल और महिला कुश्ती की तीस कैटेगरी में कुल 30 पहलवान भेजे थे जिसमें से अब तक सिर्फ दो ही पदक जीत पाएं हैं।
बजरंग और विनेश फोगाट के अलावा सागर जगलान (74 किग्रा), नवीन मलिक (70 किग्रा) और निशा दहिया (68 किग्रा) कांस्य पदक के लिए अपनी दावेदारी पेश की थी लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। इसके अलावा ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट और कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडलिस्ट रवि दहिया को टूर्नामेंट की शुरुआत में झटका लगा था। वह प्री-क्वार्टर फाइनल राउंड में हार गए थे।

 

Previous articleहाईवे के बीच आ रहा 134 साल पुराना मंदिर, नींव समेत किया जाएगा स्थानांतरित
Next articleगोरखपुर में 1071 करोड़ का निवेश करेगी पेप्सिको
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen + three =