बाँस हस्तशिल्प के जरिए महिलाओं को आत्मनिर्भर बना रही हैं जीतन देवी

0
226

रांची :  रांची के पास दाहू गांव में जीतन देवी बांस से कई आकर्षक वस्तुएं बनाती हैं। उन्होंने अन्य महिला कारीगरों को भी ये काम करने की प्रेरणा दी है। इस गांव में लोगों को रोजगार के नए अवसर देने में जीतन देवी का अहम योगदान है। फिलहाल वे झारखंड सरकार से नई मशीनों की मांग कर रही हैं ताकि वे ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्ट्स बना सकें। जीतन के साथ लगभग 30 महिलाएं काम कर रही हैं। वे अन्य गांवों में जाकर भी महिलाओं को बांस से अलग-अलग चीजें बनाना सिखाती हैं।
जीतन देवी मानती हैं कि बांस से बने उत्पाद ही उनकी परंपरा रहे हैं। उन्होंने बताया कि महामारी के बीच भी हमारे उत्पादों को छठ पूजा और शादियों में बेचा गया। हम इन चीजों को बाजार में बेचने के लिए अपने उत्पादों का स्टॉक बनाए रखते हैं।
जीतन देवी ने बताया कि लॉकडाउन में और उसके बाद भी बांस से बने उत्पादों की मांग कम हो गई थी। ऐसे वक्त में उन्होंने अन्य महिलाओं के साथ मिलकर उन्होंने राज्य आजीविका संवर्धन सोसायटी के तहत ट्रेनिंग भी ली है। जीतन देवी ने ओडिशा में रहते हुए सात साल तक बांस से प्रोडक्ट बनाने का काम सीखा। उन्हें इस ट्रेनिंग के दौरान रोज 10 रुपये मिलते थे। खुद सीखने के बाद अब वे अपने पति के साथ अलग-अलग जगह पर जाकर लोगों को बांस से उत्पाद बनाने का प्रशिक्षण देती हैं।

Previous articleवक्त के साथ बदलने में यकीन रखती हैं 100 साल की आजी
Next articleफैशन डिजाइनर सत्य पॉल का निधन
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − two =