ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन

0
16

लंदन । महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन हो गया।  .वह 96 साल की थीं और कुछ समय से चिकित्सा निगरानी में थीं। उन्होंने स्कॉटलैंड में अपने निवास बालमोराल कासल में अंतिम सांस ली। सबसे लंबे समय तक ब्रिटेन की गद्दी पर बैठने वाली महारानी की तबियत गत गुरुवार को खराब हो गयी। बकिंघम पैलेस के बयान में कहा गया है कि अब महारानी के उत्तराधिकारी प्रिंस चार्ल्स राजा हैं और उनकी पत्नी कैमिला पार्कर रानी हैं। वे अभी बालमोराल में ही हैं और सुबह लंदन लौटेंगे।

एलिजाबेथ भाग्यवश बनीं महारानी
एलिजाबेथ द्वितीय का जन्म 21 अप्रैल 1926 को यॉर्क के ड्यूक परिवार में हुआ था। जन्म के समय उनके राजगद्दी पर आने की कोई संभावना नहीं थी। एलिजाबेथ के जन्म के दस साल बाद उनके चाचा एडवर्ड ने राजगद्दी को प्यार के लिए ठुकरा दिया और एलिजाबेथ के पिता जॉर्ज ने गद्दी संभाली। इसके बाद उनकी बड़ी बेटी एलिजाबेथ क्राउन प्रिंसेस बनी।

भारत की आजादी के कुछ ही महीनों बाद 20 नवंबर 1947 को एलिजाबेथ ने ग्रीस के प्रिंस फिलिप से शादी की. एक साल बाद बेटे चार्ल्स का जन्म हुआ, अगस्त 1950 में बेटी ऐन का, 1960 में एंड्र्यू और 1964 में बेटे एडवर्ड का।

महारानी ने किया 16 प्रधानमंत्रियों के साथ काम
1952 में एलिजाबेथ कॉमनवेल्थ देशों की यात्रा पर थीं, जब उन्हें पिता किंग जॉर्ज VI के निधन की खबर मिली और 25 साल की उम्र में राजगद्दी की जिम्मेदारी उनके कंधों पर आ गई. एक साल के शोक के बाद 2 जून 1953 को उनकी ताजपोशी हुई।
महारानी एलिजाबेथ यूनाइटेड किंगडम के अलावा ऑस्ट्रेलिया समेत 15 देशों की राष्ट्र प्रमुख थीं। संवैधानिक राजशाही में महारानी के रूप में उनकी जिम्मेदारी सांकेतिक थी। शुरू में अनुभवहीन महारानी अपनी शासन के शुरुआती दिनों से ही हर हफ्ते प्रधानमंत्री से मिलती और देश दुनिया की स्थिति पर चर्चा करतीं। 70 साल के कार्यकाल में उन्होंने 16 प्रधानमंत्रियों के साथ काम किया जिनमें तीन महिला प्रधान मंत्री शामिल हैं।

पिछले साल ही हुआ था पति प्रिंस फिलिप का निधन
आम तौर पर महारानी को बहुत रिजर्व और कम संवेदनशील माना जाता था, लेकिन फिर भी वह जनता के बीच बहुत लोकप्रिय थी। संचार और लोगों से संपर्क के मामले में वह हमेशा समय के साथ रहीं और हाल में सोशल मीडिया का भी इस्तेमाल किया। महारानी ने ग्रीस के कुमार प्रिंस फिलिप से शादी की। दोनों का साथ 73 साल तक रहा. 99 की उम्र में प्रिंस फिलिप का पिछले साल ही निधन हुआ था।

Previous article89.08 मीटर के थ्रो के साथ नीरज चोपड़ा ने जीती डायमंड लीग
Next articleप्रतिभा सिंह तीसरी बार बनीं वीरांगना प्रदेश कार्यकारिणी की अध्यक्ष
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 + 14 =