भवानीपुर कॉलेज में अंग्रेजी लघु कहानी प्रतियोगिता 

0
18

कोलकाता । भवानीपुर एजुकेशन सोसाइटी कॉलेज की लाइब्रेरी में स्क्रिबल 22 लघु कहानी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें अड़तीस विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। लघु कहानी की विशेषता बताते हुए निर्णायक समीक्षा खंडूरी ने कहा कि लघु कहानी के लिए विषय वस्तु, चरित्र चित्रण, शैली, घटना और उसकी चरम स्थिति एवं मूल्यांकन पर ध्यान आवश्यक होता है। इन आधारों पर एक कहानी का ढांचा तैयार किया जा सकता है। फिर कल्पना और भाषाई अलंकरण द्वारा सृजनात्मक शक्ति द्वारा व्यक्त किया जा सकता है।
इस लघु कहानी प्रतियोगिता में छात्रा कनक बांग की कहानी को प्रथम स्थान दिया गया। अंग्रेजी भाषा में हुई इस प्रतियोगिता का संयोजन गौरव चौधरी और तूलिका दे ने किया। इस कार्यक्रम में पचास विद्यार्थियों ने पंजीकृत करवाया था। डॉ. वसुंधरा मिश्र ने निर्णायक समीक्षा खंडूरी को कॉलेज का स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया। प्रो. मीनाक्षी चतुर्वेदी ने प्रथम स्थान पर विजेता को उपहार प्रदान किया। मुख्य रूप से बीबीए बीकॉम और बीए के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। यह आयोजन फिनमिनन कलेक्टिव द्वारा किया गया।

Previous articleकब्र में सोया वो आदमी
Next article लावारिसों को अपनों सा सम्‍मान दे रहीं मुजफ्फरनगर की शालू
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + nineteen =