भवानीपुर कॉलेज में वित्तीय विवरण की व्याख्या पर दो दिवसीय कार्यशाला

0
356

कोलकाता :  दि इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड एकाउंटेंट अॉफ इंडिया और ईआईआरसी के साथ भवानीपुर कॉलेज के तत्वावधान में वित्तीय विवरण की व्याख्या पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें टीसीएस जैसी कंपनी के उदाहरण देकर वित्तीय विवरण की व्याख्या की गयी। ऑन-लाइन हुए इस कार्यक्रम में कॉलेज के शिक्षकों में सीए अंकित पटवारी, सीए प्रीति मोदी, सीए के हर्षवर्धन सांघी के महत्वपूर्ण वक्तव्य रहे। इआईसीएआई के मंच पर प्रथम बार इन वक्ताओं ने अपने वित्तीय विवरण की व्याख्या द्वारा महत्वपूर्ण विषयों पर विस्तार से चर्चा की जिनमें कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन और बाजार की स्थिति, कंपनी की बैलेंस शीट, नकदी प्रवाह का विवरण, लाभ हानि का विवरण आदि विषय शामिल हैं। प्रथम दिन सीए नितेश कुमार मोर अध्यक्ष आईसीएआई, ईआईआरसी और कॉलेज के डीन प्रो दिलीप शाह की गरिमामय उपस्थिति रही। सीए हरिराम अग्रवाल आईसीएआई और ईआईआरसी के क्षेत्रीय परिषद सदस्य ने वित्तीय विवरण आडिटर रिपोर्ट और निवेशकों के लिए डायरेक्टर की रिपोर्ट, डिस्क्लोजर, आडिटर्स की रिपोर्ट से संबंधित आडिट राय के आधार पर अन्य कंपनियों की कानूनी और विनियामक आवश्यक तत्वों पर रिपोर्ट आडिटर्स रिपोर्ट आर्डर 2016 आदि पर विशद चर्चा की।
कार्यशाला के द्वितीय दिन कॉलेज के शिक्षकों सीए अंकित पटवारी, सीए प्रीति मोदी और  सीए हर्षवर्धन संघी ने वित्तीय विवरण के तत्वों पर मूल्यवान इनपुट साझा किया जिनमें बैलेंस शीट के विभिन्न मापदंडों, लाभ हानि का ब्यौरा और संबंधित विभिन्न घटकों की चर्चा, स्टॉक मार्केट के लाभ और हानि, बिक्री खरीद, अन्य खरीद के मौलिक विश्लेषण और निवेशकों की धारणा बनाने के लिए समझ, पीबीटी और ईपीएस की चर्चा की गई। फ्लिपकार्ट और भुगतान पेटीएम पर केस स्टडीज के उपयोग के विषय में जानकारी दी गई , भले ही कंपनियां मौजूदा नुकसान में चल रही हों लेकिन उसका भी अधिक मूल्यांकन , आईपीओ शेयरों के मामले में ओवर सब्सक्राइब्ड करना  जो कंपनी की दृष्टि और बाजार में उनकी पहुँच पर निर्भर होती है आदि विषयों पर चर्चा की गई। कैश फ्लो स्टेटमेंट, क्रय विक्रय लाभ हानि संपत्तियों का, लेनदार देनदार आदि पर विशेषज्ञों ने विस्तार से जानकारी दी। कार्यशाला के दो दिनों में भाग लेने वाले सभी वक्ताओं प्रतिभागियों और आयोजकों को धन्यवाद दिया गया। इस कार्यक्रम की जानकारी दी डॉ. वसुंधरा मिश्र ने।

Previous articleमकर संक्रांति पर खाइए लजीज खिचड़ी
Next articleश्रीमोहन तिवारी को मातृ शोक
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 + twenty =