महामारी के बीच चेन्नई की ट्रांस महिलाएं मुफ्त में बांट रहीं खाना

0
143

लॉकडाउन के शुरुआती दौर में खुद पैसे जुटाकर की पहल

ट्रांस कम्युनिटी किचन में श्रीजीत, आरूवी, अनीश और शरन कार्तिक नाम की ट्रांस महिलाएं जरूरतमंदों के लिए खाना बनाते हुए देखी जाती हैं। इनके अलावा यहां लगभग 12 महिलाएं काम कर रही हैं। श्रीजीत ने बताया कि लॉकडाउन के शुरुआती दौर में ट्रांस समुदाय के कुछ लोगों ने मिलकर गरीबों के लिए खाने की व्यवस्था करने के उद्देश्य से फंड इकट्‌ठा किया। वहीं ये भी महसूस किया कि महामारी की वजह से खाना तो दूर लोगों को साफ पानी तक नहीं मिल पा रहा है। श्रीजीत के अनुसार, मैं इन सभी महिलाओं को लंबे समय से जानती हूँ। वे समाज के लिए हर संभव प्रयास करने को तत्पर रहती हैं। खाने के साथ ही वे उन लोगों को अपनापन देना चाहती हैं जो बेसहारा हैं। ट्रांसवुमन की टीम हाइजीन के सभी प्रोटोकॉल फॉलो करती हैं। उनका काम सुबह 4:30 बजे शुरू होता है और रात को 9 बजे तक जारी रहता है। ये टीम सुबह, दोपहर और शाम को लॉकडाउन के बीच गरीबों में खाना बांटते हुए देखी जाती है।
सबसे पहले इन महिलाओं ने नाश्ते में रवा खिचड़ी और लंच में वेजिटेबल बिरयानी बांटने की शुरुआत की। रात के खाने में रोटी और सब्जी बांटी। ये महिलाएं खाने के साथ जरूरतमंदों को पानी की बोतल भी देती हैं। 2 मई के बाद से इन्होंने नाश्ते में पोंगल, दिन के खाने में सांभर और चावल व रात के खाने में जैम व बिस्किट बांटा। वे एक वक्त में लगभग 400 लोगों को मुफ्त में खाना बांटती हैं।

 

Previous articleईरान की मैकेनिक मरियम रूहानी ला रही हैं बदवाव
Next articleउत्तरप्रदेश की अर्शी कोरोना मरीजों को मुफ्त में बाँट रही ऑक्सीजन सिलेंडर
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 4 =