यूएई में पुरातत्‍वविदों को बड़ी सफलता, खोजी 8500 साल पुरानी इमारत

0
40

दुबई । संयुक्‍त अरब अमीरात के पुरातत्‍वविदों ने देश की सबसे प्राचीन बिल्डिंग की खोज की है। पुरातत्‍वविदों ने बताया कि यह इमारत 8500 साल पुरानी है। यह बिल्डिंग इससे पहले मिली इमारत से भी 500 साल ज्‍यादा पुरानी है। अबूधाबी के संस्‍कृति और पर्यटन विभाग ने इस शानदार खोज की जानकारी दी है। यह प्राचीनतम इमारत अबू धाबी शहर के पश्चिम में स्थित घाघा द्वीप पर मिली है।
इस द्वीप से जो ढांचा मिला है, वह ‘साधारण गोल कमरों’ की तरह से है जिसके चारों ओर पत्‍थर की दीवार है। यह दीवार 3.3 फुट ऊंची है और अभी भी काफी हद तक सुरक्षित है। शोधकर्ताओं के दल ने कहा कि यह ढांचा संभवत: एक छोटे से समुदाय का घर था जो इस द्वीप पर उस समय रहते थे। उन्‍होंने कहा कि यह खोज इस बात का दर्शाती है कि लंबी दूरी तक समुद्री व्‍यापारिक रास्‍ते शुरू होने से पहले ही नवपाषाण युग की बस्तियां यहां मौजूद थीं।
इमारत के पास शव दफन किया हुआ मिला
इस जगह से हजारों की तादाद में पुरावशेष भी मिले हैं। इनमें पत्‍थर से बने तीर के नोक भी शामिल हैं जो शिकार के लिए इस्‍तेमाल किया जाते थे। टीम ने कहा कि इस बात की संभावना है कि यहां रहने वाले लोग समुद्र में मिलने वाले प्राकृतिक संसाधनों का इस्‍तेमाल करते थे। हालांकि पुरातत्‍वविदों को अभी भी भरोसा नहीं है कि इस घर का कब इस्‍तेमाल किया गया। इस बिल्डिंग के पास एक शव दफन किया हुआ मिला है जो करीब 5 हजार साल पुराना है।
अबूधाबी द्वीप पर यह कुछ चर्चित कब्रों में शामिल है। संस्‍कृति विभाग के चेयरमैन मोहम्‍मद अल मुबारक ने कहा, ‘घाघा द्वीप पर हुई खोज यह दर्शाती है कि इनोवेशन की विशेषता, स्‍थायित्‍व और लचीलापन यहां रहने वाले लोगों के डीएनए में हजारों साल पहले से ही मौजूद थी।’ इससे पहले यूएई में सबसे पुरानी बिल्डिंग की खोज मारवाह द्वीप पर हुई थी जो अबू धाबी के तट पर स्थित है। यही पर साल 2017 में दुनिया का सबसे पुराना मोती मिला था।

Previous article बाइक पर बच्चों को बैठाने से पहले पढ़ लें ये जरूरी नियम
Next articleनागार्जुन ने गोद ली 1000 एकड़ वनभूमि, दान देंगे करोड़ों रुपये
शुभजिता की कोशिश समस्याओं के साथ ही उत्कृष्ट सकारात्मक व सृजनात्मक खबरों को साभार संग्रहित कर आगे ले जाना है। अब आप भी शुभजिता में लिख सकते हैं, बस नियमों का ध्यान रखें। चयनित खबरें, आलेख व सृजनात्मक सामग्री इस वेबपत्रिका पर प्रकाशित की जाएगी। अगर आप भी कुछ सकारात्मक कर रहे हैं तो कमेन्ट्स बॉक्स में बताएँ या हमें ई मेल करें। इसके साथ ही प्रकाशित आलेखों के आधार पर किसी भी प्रकार की औषधि, नुस्खे उपयोग में लाने से पूर्व अपने चिकित्सक, सौंदर्य विशेषज्ञ या किसी भी विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें। इसके अतिरिक्त खबरों या ऑफर के आधार पर खरीददारी से पूर्व आप खुद पड़ताल अवश्य करें। इसके साथ ही कमेन्ट्स बॉक्स में टिप्पणी करते समय मर्यादित, संतुलित टिप्पणी ही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × one =