राजा नरेंद्रलाल खान वुमेन कॉलेज ‘प्रेमचंद का भारत’ पर वेबिनार

0
65

मिदनापुर : राजा नरेंद्रलाल खान वुमेन कॉलेज के हिंदी विभाग की ओर से ‘प्रेमचंद का भारत’ विषय पर वेबिनार आयोजित किया गया। अतिथियों का स्वागत करते हुए प्राचार्य डॉ जयश्री लाहा ने कहा कि हिंदी विभाग निरंतर प्रगति कर रहा है। प्रेमचंद का साहित्य हम सभी को जोड़ता है। विषय प्रवर्तन करते हुए विभागाध्यक्ष डॉ रेणु गुप्ता ने कहा कि प्रेमचंद ने स्वतंत्रता और समानता के भारत का सपना देखा था। बीएचयू के सहायक प्रोफेसर डॉ विवेक सिंह ने कहा कि प्रेमचंद भारतीयता के लेखक हैं। उन्होंने सामान्य भारतीयों के जीवन सत्य के साथ भारत के स्वराज के लिए संघर्ष की कथा को लिखा।प्रेमचंद ने भारतीय समाज में व्याप्त संस्थागत बुराइयों को बेपर्दा किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भारतीय भाषा परिषद के निदेशक डॉ शंभुनाथ ने कहा कि प्रेमचंद का कथा साहित्य पूरे भारत की तस्वीर है। प्रेमचंद ने राष्ट्र मुक्ति के साथ आर्थिक स्वराज का स्वप्न देखा। उनका साहित्य त्रासदी और ह्रदय परिवर्तन का साहित्य है। इस अवसर पर हिंदी विभाग की छात्रा सीता महतो ने ‘साहित्य संबंधी प्रेमचंद के विचार’, अंजलि तमांग ने ‘सामाजिक यथार्थ के परिप्रेक्ष्य में दो बैलों की कथा’,अर्चना गुप्ता ने ‘पूस की रात कहानी में किसान जीवन का संघर्ष’और बिट्टू कौर ने ‘सुमन की चारित्रिक विशेषताएं’ विषय पर आलेख पाठ किया। इस संगोष्ठी में देश भर से शिक्षक,विद्यार्थी और साहित्य प्रेमी जुड़े थे। धन्यवाद ज्ञापन प्रो.सुमिता भकत ने दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − eleven =